भाई कय्यूम नइमी..... हम दोस्तों की चलती फिरती डायरेक्टरी

मंगलवार, 20 जनवरी 2009

भाई कय्यूम नइमी, प्रिंट मीडिया से जुड़े हैं लेकिन मैं इन्हें हम यारों के बीच में संत हज़रत खिज़र अलैस्सलाम जैसा मानता हूं जो कि रास्ता भूल गये लोगों को उनकी मंजिल पर पहुंचा देते हैं। अगर किसी पुराने दोस्त से मिलना हो या किसी पुराने यार का फोन नंबर चाहिये हो तो बस भाई साहब को बताइये तो जब तक जनाब उस दोस्त को आपसे मिलवा नहीं लेते इन्हें चैन नहीं आता। भाई के इसी अंदाज ने हम लोगों को इनका प्रशंसक बना रखा है। जियो कय्यूम भाई...... इसी तरह यारों को एक दूसरे से मिलवाते रहिये।
जय जय भड़ास

3 टिप्पणियाँ:

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

भाई नइमी! न आप मिलते और न ही हमारे पुराने परिचित दोबारा तकरीबन बीस साल बाद मिल पाते... आपका भड़ास की टीम की ओर से दिल से शुक्रिया।

अजय मोहन ने कहा…

भाई मैं आ रहा हूं आपसे मिलने गुलबूटे के कोने पर ही रहियेगा:)
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

डाक्टर साहब,
शुक्रिया कय्यूम भाई से रूबरू करवाने का, भाई का स्वागत है भड़ास परिवार में.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP