हाँ मेरे अन्दर भी भरी परी है.

बुधवार, 18 फ़रवरी 2009

4 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाईसाहब आपने लिखा है कि आपके भीतर भी भरी परी है.... कौन सी परी भरी है?
जय जय भड़ास

Jagmohan Manchanda ने कहा…

Rupesh ji, merey kahne ka matlab hai, mere andar bhi bharas bhari pari hai. lekin honsala nahin kaj pa raha hoon. kuch abhi naya hoo. hindi mein kaisa likha jata haai, nahin janta. jab nikaloonga to bahut door tak ja sakti hai. phir samblaygee kaise. Is par vachar kar raha hoon.

Jagmohan Manchanda ने कहा…

Rupesh ji, merey kahne ka matlab hai, mere andar bhi bharas bhari pari hai. lekin honsala nahin kaj pa raha hoon. kuch abhi naya hoo. hindi mein kaisa likha jata haai, nahin janta. jab nikaloonga to bahut door tak ja sakti hai. phir samblaygee kaise. Is par vachar kar raha hoon.

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

जगमोहन भाईसाहब आप तो बस निकाल ही दीजिये उसमें हौसले की क्या बात है क्या उल्टी करने के लिये ताकत या हौसले की आवश्यकता होती है असल में भड़ास का दर्शन ही यही है कि आप बिना रोक टोक के विचार वमन व विचार रेचन करके पूर्ण रूपेण स्वस्थ हो कर समाज व राष्ट्र के उत्थान हेतु रचनात्मकता प्रस्तुत कर सकें। तो फिर शुरू हो जाइये अपना विचार रेचन यदि कुछ थोड़ा बहुत भाषाई समस्या होगी तो हम उसे संपादित कर लेंगे आप शुरू तो करिए
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP