हल चलाता हुआ मंगरू मुझसे अच्छा है ....

मंगलवार, 3 मार्च 2009

सोचता हूँ , हल चलाता हुआ मंगरू मुझसे अच्छा है । उसे अपने काम का पता तो है न । वह मन से कर भी रहा है ।
मुझे तो बहुत कुछ पता ही नही और कुछ - कुछ पता है भी तो काम नही करता । मन से तो बिल्कुल ही नही ।
अवसर की आहट कई बार सुन कर भी अनसुना कर चुका हूँ , जिसका खामियाजा आजतक भुगत रहा हूँ । लगता है , कोई भी मंडप मेरे लिए नही सजेगा । मेरा कभी भी अभिषेक नही होगा । मै अकेला ही रह जाऊँगा । रातों में चाँदनी नसीब नही होगी ।
कोई राह नही कोई , कोई मंजील नही दिखती , गोल गोल घूम रहा हूँ । लगता है , आगे बढ़ रहा हूँ ।
क्या करू ,निर्दोष हिरणों को मारकर सेज नही सजा सकता ,
सो दुनिया से दो कदम पीछे रह गया ।
बछडे का हक़ मारकर पंचामृत नही बना सकता ,
सो प्यासा रह गया ।
चंदन तरु काटकर तिलक नही लगा सकता ,
सो आगे नही जा पाया ।

6 टिप्पणियाँ:

Manoj dwivedi ने कहा…

NIRASH MAT HOIYE..AP KO WAH SAB KUCHH MILEGA JO AP PANA CHAHTE HAIN. BAS PRAYAS JARI RAKHIYE..

MARKANDEY RAI ने कहा…

Manoj jee niraash to nahi hoon bas kabhi kabhi dil se aawaj nikal aati hai .rok nahi pata.

मुनेन्द्र सोनी ने कहा…

भाई मार्क(यार माफ़ करिये मार्कण्डेय थोड़ा सा बड़ा लगता है अगर ये संबोधन बुरा लगे तो सूचित करें) आपने जो लिखा है वह दिल तक उतर गया..
जय जय भड़ास

MARKANDEY RAI ने कहा…

soni jee mere friend mujhe mark hi kahate hai.bura kyon lagega.

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

मार्कण्डेय भाई आपने तो इन पंक्तियों में भावुक कर दिया काफ़ी समय तक निर्विचार बैठा रहा...
बछडे का हक़ मारकर पंचामृत नही बना सकता ,
सो प्यासा रह गया ।
चंदन तरु काटकर तिलक नही लगा सकता ,
सो आगे नही जा पाया ।

लिखते रहिये आपको साधुवाद
जय जय भड़ास

फ़रहीन नाज़ ने कहा…

खरा आहे भाऊ, खूपच भावुक केलास तू तर मला...
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP