अब मुंबई के रेडलाइट एरिया में सिर्फ़ मराठीभाषी औरतें ही धंधा करेंगी : राज ठाकरे (अतीत के पन्ने से.....)

बुधवार, 6 मई 2009

आज तो सुअरपन की हद पार कर दी राज ठाकरे और उसके समर्थकों ने। पनवेल में मैं भाई डा.रूपेश के साथ आज जब सब्जी लेने के लिये बाजार गयी तो देखती क्या हूं कि पूरा बाजार म.न.से. के होर्डिंग्स से पटा पड़ा है जिन पर सभी लोगों से अपील करी गयी है कि आप लोग "आम" केवल मराठी भाषी लोगों की दुकानों से खरीदें साथ ही हिंदी भाषी आम विक्रेताओं को मार-धमका कर उनकी दुकानें बन्द करा दी गई हैं कि अगर उन्होंने आम बेचे तो उनकी दुकानो को तोड़ दिया जाएगा और आग लगा दी जाएगी। बेचारा वो आदमी जिसे गरीबी की मार ने पहले ही मार डाला है, जिसे अपना घर छोड़ कर हजारों किलोमीटर दूर परिवार से रह कर, फुटपाथ पर सो कर महज अपना परिवार जीवित रखने की चिन्ता रहती है वो लड़ नहीं सकता है उसे मराठी या हिन्दी बोलने वाला क्या कोई गूंगा भी मार सकता है क्योंकि वो पहले ही मरा हुआ है। मैं भड़ास के मंच से उस सुअर के पिल्ले,लेंड़ी राज ठाकरे से एक बात कहना चाह रही हूं कि मुंबई में एशिया का सबसे बड़ा रंडी बाजार हैं "कमाठीपुरा" उधर अपने समर्थकों के साथ जा कर बोर्ड लगवाए कि अब इस धंधे पर सिर्फ मराठीभाषी औरतें ही बैठेंगी और अगर किसी दूसरे प्रदेश की औरत बैठी तो उसे धंधा नहीं करने दिया जाएगा। इस काम की शुरूआत करने के लिये सबसे पहले ये सुअर अपने घर से मां-बहनों-बेटियों और बीबी को आगे लाने वाला है आखिर मराठी अस्मिता की रक्षा जो करनी है। अगर मराठीभाषी औरतें कम पड़ गईं तो खुद राज ठाकरे और म.न.से. के कार्यकर्ता लोगों को खुद अपनी पिछाड़ी परोसेंगे लेकिन किसी भी धंधे में हिन्दी बोलने वाले को घुस कर उस धंधे को मराठी लोगों से नहीं छीनने देंगे। महराष्ट्र में हर धंधे पर सिर्फ़ मराठी बोलने का अधिकार जो है।

2 टिप्पणियाँ:

Badshah Basit ने कहा…

घाव में उंगली कर दी ....
जय जय भड़ास

Zeenat ने कहा…

waah lantarani apa Kya baat kahi hai, such much agar aisa farman un sooaron ne nikal dia to zara sochie Bechari Marathi Aouraton ka kya haal hoga?
waise salaah achhi hai.

zulaikha jabeen
Raipur chhattisgarh

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP