अमल जैन तू रावण तो नहीं,सावधान राम का जन्म हो चुका है

मंगलवार, 19 मई 2009

आज तो मैं लुमरई करूँगा....माफ़ कीजिएगा अमल जी ,बारी आपकी ही है।पिछले डेढ़ साल से आपने बिहार-झारखण्ड के पत्रकारों के बीच एक खौफ का वातावरण पैदा कर दिया है ,आपके न्यूज़ चैनेल ३६५ दिन के एक भी स्टाफ चैन से एक दिनभी नहीं जीया है. आपकी नीतिओंने तो कई को जेल भी डाल दिया है ,कई बार आपके खिलाफ आवाजे उठी पर मालिक के द्वारा दबा ही दी गई। मुझे तो लगता है की आप रावण की तरह अमर हो होकर जन्म लिए हैं ....अरे रे.रे.रे.रेरेरेरे ,ये मै क्या लिख दिया !आपकी तुलना विद्वान रावण से कर दिया ,हे ईश्वरमाफ़ करना .एक नापाक की तुलना रावण से कर दिया .....लिकिन क्या करता जैसे रावण को मारने के लिए उसकी नाभि नहीं मिल रही थी वैसे ही अमल जैन के शोषण को समाप्त करने के लिए इसकी भी नाभि नहीं मिल पा रही है। कहा जाता है की ईश्वर के घर देर है ,अंधेर नहीं.......वध होगा ,जैसे देश को स्थाई सरकार मिल गयी है उसी तरह पोद्दार ग्रुप के रांची से प्रसारित न्यूज़ चैनेल ३६५ दिन को भी स्थाई सी ई ओ मिलेगा ,यहाँ भी राम राज आएगा ,रावण तेरा वध अवश्य ही होगा। रावण तेरी लीला समाप्त हो गयी है ,राम का जन्म हो चुका है .......आज हर शोषित पत्रकारों के अंदर राम जन्म ले चुके हैं ......सावधान .....तेरा कालनिश्चित है .......... .!

2 टिप्पणियाँ:

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

नि:संदेह पापी अधर्मी का वध होगा.
आप आन्दोलन जारी रखिये.
भड़ास इस आन्दोलन को उद्वेलित करता रहेगा.

जय जय भड़ास

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

जय हे...
जय हे...
जय जय जय हे...
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP