धरती बचाओ अभियान का पत्र

मंगलवार, 14 जुलाई 2009


डी.एस. पंवार
कर एवं बीमा सलाहकार
स्वामी अनूप दास का तुच्छ चरणसेवक

3 टिप्पणियाँ:

मनोज द्विवेदी ने कहा…

BHAI SAHAB, KAGJO ME TO DHARTI, GANGA SAB KUCHH BACHAYI JA RAHI HAI..YE SAB TO NETA LOG KARTE HAIN. APKO ISKI LAT KAISE LAG GAYI. DHARTI BACHANE KE LIYE JAMIN PAR KADAM RAKHANE PADTE HAIN. PAR APNE TO LIKHA HAI KADAM YANI CHARAN SEWAK PHIR AP DHARTI SEWAK NAHI HO SAKTE.

anop ने कहा…

मनोज भाईसाहब क्षमा करें, कदम धरती पर ही हैं और अनूप मंडल से जुड़े सारे लोग जमीन से जुड़े लोग हैं कोई भी हवा में नहीं उड़ रहा है। स्वामी अनूप दास के चरण सेवक होने का तात्पर्य ये नहीं है कि हम मिट्टी से अलग हो गए। हम मूढ़ हैं,ग्रामीण हैं,शाब्दिक विद्वता नहीं उपजा सके,गूंगे हैं पगलाए बौखलाए बौराए हैं,हमें जो पता है उसे कोई कहने नहीं देता था इसी लिये तो भड़ास के मंच पर आप सबके सामने आएं हैं आशा है कि हम अपनी टूटी-फूटी जो बातें सच बताने के लिये लिख पा रहे हैं आप विद्वजन समझ लेंगे कि क्या चालाकियां करी जा रही हैं। भूलों को क्षमा करें लेकिन आप अपने स्तर पर सजग रह कर हमारी बातों को अवश्य जांचें और देखे कि हम महावीर सेमलानी या अमित जैन का पर्दाफ़ाश कैसे कर रहे हैं कि ये क्या धूर्तता दिखाते हैं भोलेपन का मुखौटा लगा कर।
जय जय भड़ास
जय नकलंक
अनूप मंडल

बेनामी ने कहा…

अबे क्यों लम्बी लम्बी गा रहा है साले , कुछ अकल की भी बात किया कर अनूप लल्लू

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP