शिवसेना, मनसे, बजरंग दल, विश्वहिंदू परिषद, सभी इस्लामी संगठनों में समलैंगिक नेता नहीं हैं????

शनिवार, 15 अगस्त 2009

मुंबई की तमाम लोकल ट्रेनों में ये स्टिकर लगे हैं जो आपको बुला रहे हैं
मैं इस बात को स्वीकारता हूं कि मुझे राजनीति की समझ नहीं है लेकिन विभिन्न संगठनों का समय समय पर जो लोक व्यवहार देखता हूं उससे तमाम राजनैतिक दलों और धार्मिक संगठनों के कर्ता-धर्ताओं की सोच का अनुमान लगता है। मुंबई में शिवसेना और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना का एक साझा व्यवहार रहा है कि जो दूसरे राज्यों से आए लोग हैं उन्हें अपनी राजनीति का मुद्दा बनाए रखा जाए। जर-जरा सी बात पर तमाम हिंदू-मुस्लिम संगठन के नेतागण सड़कों पर उतर कर ड्रामेबाजी करने लगते हैं। इन सभी संगठनों के ऊपर मैं आज खुल कर एक आरोप लगा रहा हूं कि अगर शिवसेना, मनसे, बजरंग दल, विश्वहिंदू परिषद, सभी इस्लामी संगठनों में समलैंगिक नेता नहीं हैं या कार्यकर्ता समलैंगिक नहीं हैं तो कल जो तुम्हारे मुंह पर मूता जाने वाला है गिरगांव चौपाटी पर उसे रोक कर दिखाओ। अभी ये सारे कहेंगे कि ये तो कानूनी मान्य हो गया है तो नपुंसकों , कायरों, षंढों जाकर अपने घरों में दुबक जाना और तब बाहर आना जब किसी हिंदीभाषी को पीटना हो, किसी बाबरी मस्जिद को विध्वंस करना हो या फिर किन्हीं हिंदुओं का घर जलाकर उनकी औरतों के साथ बलात्कार करना हो; ये सब तुम्हारे लिये कानूनी रहता है पाखंडियों। मुझे पता है कि तुम चुप्पी साध जाओगे किसी फ़ादरजात में दम नहीं है कि देश की सभ्यता और सामाजिक संस्कारों की खुलेआम धज्जियां उड़ाने वाले इन हरामियों को डंडा डाल सके। तुम सालों बस हिजड़ों की तरह तालियां बजाकर "वेलेन्टाइन डे" का विरोध करना और इस्लाम की दुहाई देकर बकैती करना। जगह और समय बता रहा हूं अगर दम है दाढ़ी वालों से लेकर तिलकधारी चुटिया वालों किसी में भी तो इन्हें रोक कर दिखाओ वरना मैं ही नहीं सभी भड़ासी तुम सबको इनके जैसा मानेंगे।
जय जय भड़ास

5 टिप्पणियाँ:

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

क्या बात है सुमन भाई बस good????
जय जय भड़ास

हिज(ड़ा) हाईनेस मनीषा ने कहा…

मैं इस तरह की समाज को साजिशन दूषित करी जाने वाले नीच कार्यों की भर्त्सना करती हं और सभी को आगाह करती हूं कि ये साधारण बात नहीं है ये हमारी नौजवानों और आने वाली पीढ़ियों के संस्कारों को निंदनीय स्थिति में ले जाने का षडयंत्र है जिसे सभ राजनेता और धर्म के ठेकेदार तमाशे की तरह देख रहे हैं। इन सबको आने वाले समय में पछताना पड़ेगा। मुनेन्द्र भाई अच्छा लिखा आपने लेकिन ये सब के सब वाकई में षंढ हैं मैं तो दुर्दैववश हूं ये सारे बने हुए हैं।
जय जय भड़ास

Tarun Goel ने कहा…

what was this???

Chhaya ने कहा…

A person's sexual orientation is his/her personal choice. noone has any right to be judgmental on that.

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP