लो क सं घ र्ष !: ठाकरे का नया फ़तवा

शुक्रवार, 15 जनवरी 2010

शिवसेना के बाल ठाकरे ने घोषणा की है कि महाराष्ट्र की धरती पर ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट की टीम को खेलने नहीं देंगेपाकिस्तान के बाद ऑस्ट्रेलिया दूसरा देश होगा जिसको शिवसेना ने क्रिकेट खेलने से मना किया हैबाल ठाकरे का तर्क है कि ऑस्ट्रेलिया में भारतीयों के ऊपर नस्लवादी हमले हो रहे हैं उसका जवाब हम दे रहे हैंइससे पूर्व में मुंबई में रहने वाले उत्तर भारतीयों के ऊपर शिवसेना कुनबे ने हमले किये थेबाल ठाकरे समझते हैं कि उनकी हिटलरी सनक से महाराष्ट्र चलता हैआज जरूरत इस बात की है कि बाल ठाकरे जैसे प्रान्तीयतावादी, नस्लवादी नेताओं के खिलाफ कठोर कदम उठाया जाए क्योंकि उनकी समझ कुछ मुट्ठी भर लोगो को लेकर गुंडा गर्दी के अतिरिक्त कुछ नहीं हैभारतीय लोकतान्त्रिक समाज में इस तरह के घृणापद विचार और हरकतों से देश का कतई भला नहीं होने वाला है बल्कि छोटी मानसिकता वाले लोगो से नुकसान ही होता हैऑस्ट्रेलिया में अगर बाल ठाकरे जैसी मानसिकता वाले लोग अगर भारतीय लोगों पर हमले कर रहे हैं तो वहां का कानून अपना कार्य करेगा प्रत्येक व्यक्ति को कानून लागू करने दण्डित करने का अधिकार किसी भी सभी समाज में नहीं होता है एक निश्चित प्रक्रिया के तहत कानून तोड़ने वाले लोगो को दण्डित किया जाता है समाज प्रगति पर हैबाल ठाकरे जैसे लोग आदिम अवस्था में जीते हैं और फतवे जारी करते हैं
बाल ठाकरे कि अगर सरकारी सुरक्षा व्यवस्था हटा ली जाए तो वह सियार कि तरह से मांद में पड़े नजर आयेंगे तब उनको लोकतंत्र, न्याय, कानून अपने आप समझ में आ जाएगा।

सुमन
loksangharsha.blogspot.com

4 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

साफ़ सी बात है भाई कि जरा अंदाज़ लगाएं कि यदि ठाकरे सियार है तो उसकी एक आवाज पर जान देने को तैयार खड़ी जनता में कितनी अक्ल है
क्या ऐसे ही लोग लोकतंत्र की ताकत हैं यही आवाम है जिसके लिये हमें लोकतंत्र की दरकार है? वो निःसंदेह चूतिया है लेकिन वो नेता है किनका? एक बड़ी भीड़ है उसके साथ इसका क्या मतलब निकलता है
जय जय भड़ास

Chhaya ने कहा…

Agar kutta hamein kate to kya hum kutte ko katenge?

Is tereh Bal thakrey ki chalti rahi to Bharat poori duniya se kat jayega.

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

वो गल रही आइसक्रीम से ज्यादा कुछ नहीं है आप लोग उसे ज्यादा भाव दे रहे हैं
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

मित्र सुमन जी,
ठाकरे अंतिम सांस ले रहा है, और बुझते दिए के फरफराने की तरह फरफरा रहा है, इसी की नाजाय पैदाइश रजुआ देश में आतंक फैला रहा है. अप तो बलुआ चिंता करे की दो गज जमीन उसे कहाँ नसीब होगी.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP