लो क सं घ र्ष !: ममता जी, टिकट रेलवे का बेचती हैं, यात्री यमलोक जाता है

रविवार, 17 जनवरी 2010

टूंडला रेलवे स्टेशन पर कालिंदी एक्सप्रेस ने श्रम शक्ति एक्सप्रेस को टक्कर मारी तीन यात्रियों की मौत 14 घायलआज हरिहरनाथ एक्सप्रेस ने हैदरगढ़ बाराबंकी के पास मानव रहित क्रोस्सिंग पर इंडिका कार को टक्कर मारीकहने के लिए बहाना चाहे जो भी धुंध जाए ममता जी जब से आप रेलमंत्री हुई हैं ट्रेन दुर्घटनाओ की बाढ़ गयी है आप के पास समाये नहीं है रेल मंत्रालय को देने के लिए टू रेल मंत्री पद से इस्तीफा देकर केंद्र की कैबिनेट में अपने लिए नया पद बंगाल में वाम मोर्चा हटाओ मंत्री पद ले लीजिये जिससे कोई नया रेल मंत्री आवे टू कम से कम रेलवे की समस्याओं से निपटने का प्रयास करे सबको मालूम है कि कोई भी रेलवे ट्रैक 20 मिनट तक खाली नहीं रहता हैकोई कोई ट्रेन अच्छी स्पीड में पास होती रहती है तो मानव रहित रेलवे क्रोसिंग्स का क्या अर्थ है जब भी कोई वहां क्रोसिंग पार करेगा तो दुर्घटना तो होगी हीरेलवे में अगर 24-24 घंटे यातायात स्टॉप से कार्य लिया जाएगा तो निश्चित रूप से मानवीय भूलों के आधार पर दुर्घटनाएं होंगी हीअगर रेलवे में खाली पदों पर भर्ती कर ली जाए और नियमानुसार कार्य किया जाए तो लाखो लोगो को रोजगार मिलेगा और दुर्घटनाएं नहीं होंगी
ममता जी आपकी मंशा है कि अमेरिकन साम्राज्यवाद के इशारे पर रेलवे की स्तिथि इतनी खराब कर दो की बेचने के अलावा कोई विकल्प रह जाए ये सारी की सारी दुर्घटनाएं और अव्यवस्था जानबूझ कर फैलाई जा राही हैं जिसका आप एक हिस्सा हैंइसीलिए आप टिकट रेलवे का बेच रही हैं और यात्रा करा रही हैं यमलोक की

सुमन
loksangharsha.blogspot.com

2 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाईसाहब अब क्या भारत के लोग ये चाहते हैं कि रेलवे यात्रा के अलावा जीवन बीमा भी निकाल कर दे सौ-पचास रुपए के टिकट के साथ। अरे भाई एक न एक दिन तो सबको मरना ही है जो यात्राए जमीनी हैं वो तो इसी तुच्छ जीवन में ही करनी पड़ती हैं सो अगर जिन्दा रहे तो गंतव्य पर और नहीं तो गोलोक तक तो हमारी ममताबाई पहुंचा ही रहीं हैं आप क्यों उनकी जान के पीछे पड़े है। कितना लड़ झगड़ कर तो बेचरिऊ रेल मंत्रालय लेंती हैं और आप हैं एक क्षुद्र सी दुर्घटना के चलते वो पद उनसे छीन लेना चाहते हैं ये बिलकुल गलत बात है। भइया! ये तो लगे हाथ जनसंख्या कम करने का भी उपाय कर रहे हैं ऐसे लोगों को तो जनता को सम्मानित करना चाहिये, ये जनता की ही तो नेता हैं या अमेरिका से इम्पोर्ट करी गयी हैं तो अब इन्हें झेलना भी जनता को ही होगा
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

ममता की ममता सिर्फ बंगाल कि कुर्सी है और इसके लिए भारतीय रेल एक सीढ़ी,
आप और हम मरते हैं तो मरें.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP