लो क सं घ र्ष !: मौका मिला तो कफ़न नोच लेंगे

सोमवार, 1 फ़रवरी 2010

image source: google search

साम्राज्यवादी मुल्कों ने दुनिया के काफी देशों को लूटा है खसोटा है छोटे से देश हैती को इस कदर साम्राज्यवादियों ने वहां की प्राकृतिक सम्पदा का दोहन किया है कि पर्यावरण पारिस्थितकी की व्यवस्था ही डगमगा गयी और भयंकर भूकंप आया लाखों लोग मारे गए अनाथ बच्चों की तादाद कई हजारों में हो गयी अब साम्राज्यवादियों के एक गिरोह को हैती पुलिस ने पकड़ा है जिसके पास से 33 बच्चे बरामद हुए हैं इन बच्चों को डामिनिकन रिपब्लिक ले जाया जा रहा थामानव तस्कर हैती में जगह जगह राहत और बचाव के बहाने कैम्प लगाये हुए हैं जो मानव संसाधन की तस्करी भी कर रहे हैं
ब्रिटिश साम्राज्यवाद का जब सूरज अस्त नहीं होता था तो वह गुलाम देशों से आदमियों को ले जा कर कमर के नीचे गरम लोहे से नंबर डाल कर छोटे-छोटे मुल्कों में खेती करवाते थेयूरोप की समृद्धि का राज भी यह है कि मानव को गुलाम बना कर उनकी श्रम शक्ति से अपने वहां कार्य करना ही था उसके एवज में कोई भुगतान नहीं था। आज जब दुनिया हैती के भूकंप पीड़ितों की मदद कर रही है तो साम्राज्यवादी देशों के एजेंट मदद के बहाने अनाथ बच्चों की तस्करी में लगे हुए हैं साम्राज्यवाद जिसका मुख्य उद्देश्य मुनाफा है मुनाफे के लिए वह हमेशा कफ़न तक नोच लेते हैं

सुमन
loksangharsha.blogspot.com

3 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाईसाहब मौके का लाभ उठाना एक फितरत है ये गिद्ध हैं जो इंतजार करते हैं कि कब पशु या इंसान मर जाए तो ये नोच सके, कमोबेश यही हाल हमारे देश में भी है क्या हमारे नेता इन साम्राज्यवादी लोगों से कुछ कम हैं जो शायद घर पर बैठ कर अढ़ैय्या लुढ़काते होंगे कि कब कहां पनौती लगे और ये चांदी काटें ऐसे कफ़नचोर तो हमारे यहां भी हैं ताबूत घोटाला किसी अमेरिकन ने नहीं करा था...
जय जय भड़ास

भूमिका रूपेश ने कहा…

इन बातों के लिये हम अमेरिका को दोषी ठहरा चुके हैं कि ये भूकम्प भी उसके ही प्रयोग का नतीजा है लेकिन हमारे देश में जो इस तरह की सोच पनप रही है उसका क्या करें
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

सुमन जी,
डाक्टर साहब ने सही कहा, हमारे देश में गिद्धों की कमी कहाँ है जो तिरंगे पर भी अपनी काली नजर रखते हैं.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP