मिथिला पुत्र लल्लन प्रसाद ठाकुर जयन्ती पर्व, जन्मदिन और माधव सेवा।

शनिवार, 6 फ़रवरी 2010

कल मिथिला पुत्र स्वलल्लन प्रसाद ठाकुर का जन्म दिवस था और इस तिथि समारोह में तब्दील कर सामाजिक सेवा के साथ सांस्कृतिक महोत्सव का आयोजन कर स्व. एल पी. ठाकुर स्मृति न्यास ने ठाकुर जी को सम्पूर्ण श्रधांजलि दी।

जैसा की न्यास की अध्यक्ष सुश्री कुसुम ठाकुर ने बताया कल सुबह सुबह कुष्ठ रोगियों के लिए कैम्प का आयोजन किया गया था जिसमें रोगियों के लिए दवाई, इलाज के साथ वस्त्र और भोजन की व्यवस्था की गयी थी।


सुश्री ठाकुर ने बताया कि न्यास कई दिनों पूर्व से ही इसकी तैयारी कर रहा था और इस कार्य में डाक्टर विनोद कुमार ठाकुर ने निस्वार्थ भाव से अपनी सम्पूर्ण सेवा दी, इस कैम्प के लिए वरिष्ठ पत्रकार विजय सिंह भी सार्थक सहयोगी थे।

लल्लन जी इंजिनियर थे मगर बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे, अपने पेशे के अतिरिक्त लेखन और सामाजिक कार्य में सदैव अग्रणी रहते थे, मैथिली भाषा के लिए व्यापक लडाई के अगुआ थे।

मैथिली में विभिन्न नाटकों कविताओ और एकांकी को लिखने वाले लल्लन जी जीवंत पर्यंत अपने सामाजिक कार्यों से जन चेतना का संचार करते रहे।

आज लल्लन जी नहीं हैं मगर उनके पीछे उनका भरा पूरा और समृद्ध परिवार मिथिला की शान है और एल. पी.  ठाकुर स्मृति न्यास के माध्यम से उनकी अर्धांग्नी सुश्री कुसुम ठाकुर जनजागृति और सामाजिक कार्यों को सदैवगति देतीं हैं।

कैम्प से वापस आने के बाद कुसुम जी ने अपनी व्यथा फेसबुक पर इस तरह लिखी है कि 
ऐसा देश जिसके मात्र एक शहर में, १० लाख की आबादी में कम से कम ६- ७ हज़ार कुष्ठ रोगी हों और सरकार या नेता मात्र चुनाव के समय में वोट मांगने जाएँ और कुछ खाद्य सामग्री दे उनसे वोट तो ले लें, पर जो सरकार की मुफ्त सेवायें हैं उसे भी मुहैया न कराये उस देश को कतिपय प्रगतिशील देश नहीं कह सकते" सरकार, प्रशासन और सम्बंधित विभाग की चिकित्सा के नाम पर ढोलक बजाने वाली भोंपू की हकीकत को उजागर करती है।

भड़ास स्व. लल्लन प्रसाद ठाकूर को श्रधांजलि अर्पित करता है।

2 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

सारे भड़ास परिवार की तरफ़ से स्व.लल्लन जी को श्रद्धांजलि और ये वादा कि वे हमारी यादों में अपने पीछे छोड़े हुए आदर्श कर्मों में सदा जीवन्त बने रहेंगे
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP