अनोखे चित्रकार एन.डी.एडम से मुंबई की व्यस्तता में दूसरी मुलाकात

मंगलवार, 2 फ़रवरी 2010



कुछ समय पहले जब बड़े भाई श्री अविनाश वाचस्पति मुंबई आए थे तब एक पत्राकार-मिलन हुआ। उस मिलन में भाई सूरज प्रकाश जैसे वरिष्ठ पत्राकारों से लेकर फ़रहीन जैसी युवा पत्राकार ने शिरकत करी थी। भाई महावीर सेमलानी जी के प्रयास से सब कुछ बेहद उत्तम रहा और दिल-दिमाग में अब तक उस मिलन की यादें ताजा हैं। वहीं भाई अविनाश वाचस्पति के साथ आए थे एक अनोखे-अनूठे बुजुर्ग चित्रकार श्री एन.डी.एडम जो कि लोगों को देख कर चंद मिनटों में ही छवि को कागज पर उतार देते हैं। इनकी कला को देख कर सभी लोग सराह रहे थे, श्री एडम ने कई लोगों के उस पत्राकार-मिलन में वहीं बैठे-बैठे चित्र बना डाले। भाई अविनाश की इनसे मुलाकात गोवा में हुए IFFI के फिल्म समारोह में हुई और IFFI की स्मारिका में श्री एडम के बारे में प्रकाशित भी हुआ। पत्राकार मिलन की समाप्ति के बाद मैं ओर फ़रहीन ने पनवेल की राह चल पड़े लेकिन हमारा सौभाग्य था कि अविनाश भाई के साथ ही श्री एन.डी.एडम भी हमारे साथ कुर्ला तक साथ रहे जिससे उनसे बातें करने का अधिक मौका मिला, पता चला कि वे मुंबई के ही एक उपनगर विक्रोली में रहते हैं। यदाकदा फोन पर बातें होती रहीं और कल एक बार उन्हें हमारा प्यार हमारे घर पर खींच ही लाया। लोग कहते हैं कि मुंबई की व्यस्तता में सब खो जाते हैं लेकिन यदि दिल में प्यार हो तो मुलाकातें होती हैं और सुख-दुःख बांटने का रिश्ता बना रहता है।
जय जय भड़ास

3 टिप्पणियाँ:

हरभूषण ने कहा…

मुंबई जैसे शहर में ये सिर्फ़ आप ही कर सकते हैं जो न जाने कहां कहां संकरी गलियों में फिरते लोगों के सुखदुख बांटते रहते हैं
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

वाह बहुत खूब.
अदम जी की कलाकारी और भड़ास परिवार से मिलन अद्भुत संयोग रहा.
तस्वीरों ने सब बयां कर दी.
गुरुदेव को बधाई

जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP