विनोद मेहता का शिगूफा टांय टांय फिस्स, प्रधानमंत्री का विपक्ष को करारा जवाब।

मंगलवार, 27 अप्रैल 2010

मीडिया की भूमिका पर आज क्यूँ प्रश्न उठ रहे हैं ? लोकतंत्र में लोक की आवाज होने का दावा करने वाली मीडिया आज व्यवसाय के मैदान में महज लाला जी बन कर रह गयी है, बड़े बड़े पत्रकार इन लालाओं के दलाल और बाकी के पत्रकार इन लालाओं के बाबूजी जो अपने लाला जी के व्यवसायिक फायदे के लिए पत्रकारिता तो दूर देश की सुरक्षा भी दाँव पर लगाने से परहेज नहीं करते।

हाल ही में आउट लुक पत्रिका ने फोन टेप होने की खबर फैला कर पुरे देश में सनसनी फैला दी, खबर की सच्चाई या खबर की विश्वसनीयता से इतर अपने डूबते साप्ताहिक के व्यवसाय को बचाने के लिए एक ऎसी खबर जो आई पी एल के विवाद के बावजूद संसद में भारी हंगामा और बाकी खबरिया समूह के लिए एक शानदार खबर बन गया।

वैसे विनोद मेहता के बारे में बताता चलूँ की एक खबरिया चैनल पर स्वीकार कर चुके हैं कि " मीडिया खबर की दुकानदारी करती है" और अपने दूकान को बेचने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है।

प्रधानमंत्री का इस मामले में दो टूक बयान ने जहाँ विपक्षी के जोश पर पानी डाल दिया वहीँ पत्रकारिता के इस नए स्वरुप पर भी एक प्रश्नचिन्ह लगा गया की क्या पत्रकारिता माने देश की संप्रभुता से भी ऊपर खबर की दुकानदारी रह गयी है।

3 टिप्पणियाँ:

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

रजनीश जी ,हमारे देश में अब सब कुछ बेचा जाने लगा है ,कमी है तो सिर्फ एक ,की देश का कोई भी department अपना काम ईमानदारी से नहीं करता है , यदि सिर्फ कुछ ही लोग अपना काम ईमानदारी से करने लगे तो , इस तरह की दुकाने हमेशा के लिए बंद हो जायेगी

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

अमित भाई कुछ लोग यदि ईमानदारी से काम करने लगते हैं तो भ्रष्ट बहुसंख्यक उसका बैंड बजा देते हैं मीडिया से लेकर न्यायपालिका हर जगह तो एक ही थैली के चट्टे-बट्टॆ हैं
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP