कांग्रेस के महासचिव राहुल गांधी खुले दिल से कर रहे हैं बिल गेट्स की वैचारिक भड़वागिरी

शुक्रवार, 14 मई 2010

बिल गेट्स से बड़ा बनिया कौन है इस दुनिया में भला? ये आदमी साम्राज्यवाद की जीती जागती मूर्ति है। पहले अमेरिकी कुटिलतापूर्ण सोच भारत पाकिस्तान जैसे विकासशील देशों को एड्स का हौव्वा फैला कर डराते हैं उसके बाद योजनाबद्ध तरीके से सरकार में बैठे कमीने राजनेताओं को अपने पक्ष में लेकर स्वास्थ्य संबंधी नीतियां बनवाते हैं। किस तरह से उन नीतियों के तहत एड्स परीक्षण से संबंधित किट्स की सरकारी खरीद करानी है फिर इसके बाद कैसे रिसर्च के नाम पर पैसा लूटना है और कैसे अपने देश में बनी दवाओं को हमारे देशों में बेचना और परीक्षण करना है ये सब इस तरह के साम्राज्यवादी बहुराष्ट्रीय कंपनियों के मालिक बड़े मजे से कर रहे हैं। ये सब हो पाता है हमारे लालची नेताओं के कारण। अभी आप सब देख रहे हैं कि राहुल गांधी किस तरह से बिल गेट्स के लिये काम कर रहे हैं। पैसे देकर खरीदे गये ग्रामीणों के बयान बिकाऊ मीडिया दिखा दिखा कर आम भारतीय को बता रहा है कि देश के हर नागरिक को कम्प्यूटर की बेहद जरूरत है न कि रोटी की। हमेशा से ही हमारे राजनैतिक दल जब सत्ता में काबिज हो जाते हैं तब वे रोटी, शिक्षा और रोजगार जैसे मुद्दों की बजाए मिशन चंद्रयान या फिर एड्स जैसे अंधेरे में भूत पर रिसर्च में अरबों रुपया खर्च करना ज्यादा जरूरी समझते हैं। राहुल गांधी को देश की स्थिति खूब पता है कि कुछ हो न हो लेकिन बिल गेट्स की वैचारिक दलाली करके वे भूखे नंगे लोगों के हाथ में कम्प्यूटर दे कर खुद को आधुनिक युवा ऊर्जावान नेता जता पाएंगे।
जय जय भड़ास

1 टिप्पणियाँ:

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

एक बार फिर आपने डायनामाइट हाथ में उठा कर सुलगा लिया है। आप अंधों की आँखों को चीर कर उन्हें देखने योग्य बना कर तब शीशा पकड़ा रहे हैं, देखिये क्या होता है। आपने लिखा तो सोच रही हूं कि मिशन चंद्रयान से किस को लाभ हुआ होगा?
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP