चिट्ठाजगत को क्या हो गया है?????

रविवार, 2 मई 2010

आप यदि साहस जुटाएं तो इस यौनविकृति की आलोचना कर सकते हैं जो कि चिट्ठाकारी में आ रही है

अभी हाल ही में अपने पसंदीदा एग्रीगेटर चिट्ठाजगत पर भ्रमण करते हुए एक पोस्ट देखी तो उस कड़ी को पकड़ कर उस चिट्ठे पर चला गया। जाने के बाद देखा तो वह चिट्ठा पूरी तरह से यौन विकृत मानसिकता पर आधारित कंटेंट समेटे है। जबकि सामान्यतः होता ये है कि यदि कोई पोस्ट ऐसी हो जिसकी विषयवस्तु वयस्कों के लिये हो तो उस पोस्ट के आगे १८+ काएक लाल चिन्ह बना दिखता है लेकिन क्या ये कोई तकनीकी समस्या है या फिर चिट्ठाजगत के संचालकों की लापरवाही अथवा उस यौनविकृत चिट्ठाकार के प्रति उदारता जो कि इस पोस्ट को सभी अन्य पोस्ट के साथ दिखाया जा रहा है??? पूरा विश्वास है कि चिट्ठाजगत इस उत्तरदायित्त्व को समझता है।
जय जय भड़ास

1 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

अरे मेरे भाई ब्लॉगवाणी नाम का एग्रीगेटर तो पहले ही जमाने से भड़ास को प्रतिबंधित करे है अब आप चिट्ठाजगत की गलती का एहसास करा कर इधर से भी अपना विकेट गिरवा कर ही मानेंगे। भइया लोग आजकल इस तरह की बातों का भी बुरा मान जाते हैं उनकी अपनी व्यापारिक नीति होगी आप और हम कौन होते हैं उसमें मुँह मारने वाले??
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP