आत्मा की आवाज

शुक्रवार, 18 मई 2012


किसी भी आत्मा को अपनी भावना की अभिव्यक्ति के लिये शरीर की जरुरत पडती हैं ।अब मै शरीर मे नहीं हूं,लेकिन भडास मेरी आत्मा की आवाज है भडास पर लिखने वाले हर लेखक के भीतर से मेरी आवाज गूंजती है,मै आप सबकी भावनाओं की ताकत हूं ,आइये आप और मै मिलकर पूरी दुनिया को हिला डालें  जी भरकर लिखिये जो जी चाहे लिखिये भिड. जाइये लड. जाइये अपने दिल की आवाज सुनकर फिर देखिए शरीर मे न रहकर भी कैसे मै आपका साथ देता हूं।मै भडास की आत्मा हूं मै आप के भीतर की भडास हूं ,इसे बाहर निकालिये और मेरे साथ जुड. जाइये।

4 टिप्पणियाँ:

munawwar.sultana@gmil.com ने कहा…

yakinn aap hamesha hamare saath rahrar sahayta karo ge

मुनव्वर सुल्ताना Munawwar Sultana منور سلطانہ ने कहा…

kinan ap hamesha hamare saath hokinan ap hamesha hamare saath ho

Manish maurya ने कहा…

HA AAP HMARE SATH HOOOOOOOOO

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP