नव वर्ष की विलंबित शुभकामनायें

मंगलवार, 20 जनवरी 2009

लोग कहते हैं

"नया वर्ष आया है"

जबकि

प्राकृतिक सौंदर्य से मुखरित

वर्ष प्रतिपदा अभी दूर है

पर डायरी, कलेंडर मैने भी बदले हैं

बधाइयां ली हैं, दी हैं।

और अब

२००८ नहीं २००९ ही तो लिखना है

कैसे कह दूँ कि नववर्ष नहीं आया है?

 

सोचता हूँ

अपना कहो या पराया

नववर्ष शुभ हो

मिलते रहें समाचार

सुख, सौभाग्य और समृद्धि के

शांति औ सद्भाव के

हर्ष औ उल्लास के

सभी मित्रों से, स्वजनों से

देश से, विदेश से

जानों से, अनजानों से,

अब से लेकर

वर्ष प्रतिपदा तक

और फिर तब से वर्ष भर!

 - सुशान्त सिंहल

 

 

 

3 टिप्पणियाँ:

Nirmla Kapila ने कहा…

nav varsh aapko bhi mubaarak der se hi sahi dhanyvaad

हिज(ड़ा) हाईनेस मनीषा ने कहा…

हर दिन हर पल शुभ हो समय का हर आयाम शुभ हो......

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

भाई,
देर आए दुरुस्त आए, चलिए आ तो गए, आपको भी सपरिवार मंगलकामना.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP