है कोई जवाब

मंगलवार, 10 फ़रवरी 2009

अफजल गुरू का फासी पर अब तक न चढना क्या है?
तुष्टीकरण की पराकासठा।
जहां तक नौकरी का सवाल है तो सिधी सी बात है हिन्दु अधिक हैं,योग्य है ,बिना तुष्टीकरण के अधिक पदों पर हैं(वैसे अपनी सरकार से कहकर कम करा दीजिये)तुष्टीकरण की दुनिया में सब संभव है?
मुझे गर्व है हमारे हिन्दु हिजडे़ भी तटस्थ हैं।
आज के अखबार में एक मुसलिम(आतंकवादी )नी आडवानी को मारने की धमकी दी ये आप लोग ही कर सकते है?
फतवा भी आप ही देते हैं?
गला और ना जाने क्या क्या आप ही काटते हैं यू ट्युब के विडियो देख सकते हैं?
जिस देश का खाते हैं उसकी वाट भी लगाते है?
अगर हिन्दु देश में ,राम के जन्म स्थान पे मन्दिर नहीं बनेगा तो क्या मक्का में बनेगा?
क्यों हर आतंकवादी घटना के पीछे कोई दाढी़ वाला ही होता है चाहे आतंकवाद दुनिया के किसी भी देश में क्यों न हो?
बुखारी कई बार भारत विरोधी बयान देकर आरम से है तुष्टीकरण की नीति के ही कारण ही आराम से है?
भारत पाकिस्तान बटवारे के समय लाखो हिन्दु पाकिस्तान में थे व लाखों मुसलिम भारत में थे यहां तक कहानी ठीक है।पर अब पाकिस्तान में सैकणों में हिन्दु हैं जब कि भारत में करोडों मुसलिम हो गये कहा से है कोई जवाब?
पल्स पोलियो में मुल्ला साहब ये अफवाह क्यों फैलाते हैं कि उनकी अपनी ही सरकार (काग्रेस)उन्हें नपुसंक बना रही है?इसका मकसद क्या है?सीधी सी बात है हिन्दुओं को हिन्दुओं के देश में अल्पसंख्य्क बनाने के लिये?हिन्दों जागो अभी वक्त है वरना हिन्दू क्या होता है ये दुनिया में कोई नही जानेगा?

5 टिप्पणियाँ:

बेनामी ने कहा…

बचाओ
बचाओ
बचाओ
हिंदू धर्म खतरे में है इनकी सुनो वरना अस्तित्त्व खत्म हो जाएगा जितने लोग औरंगजेब के टाइम अपना कटवा चुके थे सर्जरी करके जुड़वा लो पैसा इनसे ले लो

गुफरान सिद्दीकी ने कहा…

अरे भाई कोई तो प्रशांत भाई को इतिहास की जानकारी करा दो ये तो बस टी.वी. और खबरिया चैनलों से जो जानकारी मिलती है वही अलापते चले जाते हैं..प्रशांत भाई सिर्फ ये बताओ की देश के लिए आपका योगदान क्या है अभी तक आपने ऐसा क्या किया जिससे किसी को दो वक़्त की रोटी मिली हो या किसी को शिक्षित किया हो या कोई मंदिर बनवा दिया है जिसके भंडारे से बहोत से भूखो का पेट भरता हो या बस यहीं पर ज्ञान की गंगा बहा रहे हैं कभी किसी भिकारी की कुतिया में जा कर रात बिता लीजिये मुझे यकीन है की आपका सारा ज्ञान हवा हो जायेगा मेरे देश भक्त दोस्त अपने आस पास से शुरू करो लोगों को जागरूक करना शिक्षित करना ताकि वो देश की तरक्की में अपना पूरा योगदान दे सकें........यहाँ पर तो कोई भी ज्ञान भंज सकता है मेरे दोस्त ज़रा धरातल पर भी कुछ नज़र दाल लो ..........

आपका हमवतन भाई ...गुफरान...awadh pepuls forum

गुफरान सिद्दीकी ने कहा…

यार प्रशांत तू ये बता की किस मुस्लिम ने अफज़ल गुरु को फांसी दिए जाने का विरोध किया है. और महात्मा गाँधी की हत्या करने वालों से प्रभावित सोच रखने वालों से देश को सबसे ज्यादा खतरा है.
जहाँ तक राम मंदिर का सवाल है तो हम फैज़बदियों से बेहतर कोई नहीं बता सकता उसके बारे में क्या आप जानते हो की विवादित परिसर में श्री राम का १ मंदिर बनाने के लिए वहां पूजा करने के लिए कितने मंदिरों की पूजा रुकी हुई है और हाँ ये भी पता कर लेना की उस पूजा को किसने रोका है और एक बात याद आ गयी जिस मोदी को आप अपना हीरो मानते हो पिछले साल उसी मोदी ने गुजरात में कितने मंदिर गिरवा दिए इसका ज्ञान है आपको अगर नहीं तो जिस संगठन ki सोच रखते हो उन्ही से पूछ लेना.हिन्दोस्तान को आज तुम जैसी मानसिकता वालों से सबसे ज्यादा खतरा है जो देश के अन्दर अराजकता फैला रहे हैं भय का माहोल बना रहे हैं भारतियों को आपस में बाँट रहे हैं.(सुनो भाई हमें गाँधी बाबा की हत्या करने वालों के चेलों से कुछ नहीं सीखना)

आपक हमवतन भाई ...गुफरान...

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

भाई प्रशांत,
गुर्फान भाई की बात में दम है,
क्या आप अपने आस पास फैले समाज के अंधियारों को दूर करने का प्रयास कर सार्थक पहल कर सकते हैं?
मजहब नही सीखता आपस में बैर रखना वाले देश में अगर मुस्लिम मस्लिम की बात करे या फ़िर हिंदू हिंदू की बात करे, अगर वोह तिरंगी की बजे भगवा और हरा को अपना झंडा मानता है तो वो राष्ट्र द्रोही है.
जय जय भड़ास

फ़रहीन नाज़ ने कहा…

ये आदमी ढक्कन है आप लोग क्यों इसे तवज्जो देते हैं इसमें एक भी बात का उत्तर देने की ईमानदारी नहीं है बस बेवकूफ़ की तरह से बकबक करता रहता है। अब इसके गांव में भड़ास पर जहर उगलने के लिये बिजली रहने लगी है,मक्कार कहीं का....
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP