प्रशांत के सवालों के जवाब.

मंगलवार, 17 फ़रवरी 2009

प्रशांत भाई मैं आपके हर सवाल का जवाब देने जा रहा हूँ। पर आपसे वादा चाहूँगा किआप मुझ से तार्किक बात करेंगे अपनी बातों को सिद्ध करने के लिए कुतर्कों का सहारा नहीं लेंगे। दूसरी बात मेरे द्वारा उठाये गए सवालों का जवाब भी आपको देना होगा।
आपका पहला सवाल-> १-फतवा कौन जारी करता है हिन्दु शंकराचार्य या मौलवी
जवाब-> जब करूणानिधि ने भगवान् राम के अस्तित्व पर सवाल उठाया था तो राम जन्मभूमि के upaadhyachh डा राम विलास दास वेदांती ने करूणानिधि सिरके बदले में सोने से तौल देने की बात कही थी। (सिर लाने वाले को)। सन ९० में जब कारसेवकों पर गोलियां चली थीं तब अयोध्या के लगभग diwaron पर आजम खान से लेकर मुलायम सिंह तक के सिरों की कीमत लिखी हुई थी। शिव सेना, राम सेना , बजरंग दल द्वारा ये तय करना की हम कब प्रेम का इजहार करें कब न करें फतवा नहीं तो और क्या है?
दूसरा सवाल-> किसी अन्य देश का पत्रकार कार्टून बनाता है तोड़्फोड अपने देश होता है क्यों और कौन करता है?
जवाब-> आप जैसे धर्मान्ध लोग। जो किसी और के हाथ की कठपुतली से ज्यादा कुछ नहीं होते।
teesra सवाल-> अफजल गुरू अब तक फासी पर नहीं लटका क्यों?किसको खुस करने के लिये?
jawab-> इसके दो जवाब हैं। पहला तो ये एक प्रक्रिया जो इस समय गृह मंत्रालय में लंबित है। इसे आज नहीं तो कल सरकार को निपटाना ही है। दूसरा -> हाँ ये जरूर है कि केन्द्र सरकार में इस फैसले को लेने की इक्षा शक्ति का आभाव है। मगर कभी कहीं मुसलमानों ने प्रदर्शन करके ये नहीं कहा कि अफजल गुरु को बख्श दो। इस बात के लिए दोषी केन्द्र सरकार है न कि मुस्लिम समुदाय। बात वहीँ घूमफिर कर आती है कि विकास जैसे मुद्दों से ध्यान हटा कर सरकार मुसलमानों को कट्टरवाद में ही लपेटे रखना चाहती है। कुलमिलाकर नुकसान तो मुस्लिम समुदाय का ही हो रहा है फ़िर वो इस बात के लिए कैसे दोसी हो sakte हैं।
चौथा सवाल-> अतुले ने जो बयान दिया अगर वही भाजपा ने दिया होता तो क्या आप जैसे फंडु सेक्युलर लोगो का नजरिया यही रहता ?
जवाब-> भाजपा ने ही कहाँ बख्श दिया? नकवी का बयान शायद आपने पढ़ा नहीं या सुना नहीं। वो हमले और राजनीतिज्ञों का विरोध करने वाली औरतों के लिपस्टिक और कपड़े निहार रहे थे।
पांचवा सवाल->मुझे तर्क दिया जा रहा है कि ये आतंकवादी लोग मुसलमान नहीं हैं अपने आप को सच्चा मुसलमान साबित करने के लिये फिर ये लोग कहाँ से आय?
जवाब-> उसी बेहूदी सोच से इनका भी जन्म हुआ है जिस soch kee गर्भ में आप पल रहे हैं। आप बताइए प्रज्ञा और अमृतानंद हिंदू हैं अगर हैं तो ये लोग भी मुस्लिम हैं। यानि राक्षस हर जगह हैं।
छठा सवाल-> पिछले दिनों मैने दो रूपये की पेपर में पढ़ा कि पाकिस्तान से कुछ हिन्दु भारत में अपनी जान बचा के सरण लियें है ?उन्हें नागरिक्ता देने पर अभी समय है पर जो लोग बागला देश से भाग कर आये हैं उन्हें चार रू मे भारत की नागरिक्ता दी जा रही है कौन दे रहा है किसे खुस करने के लिये दिया जारहा है?
जवाब-> बंगला देशियों को कोई नागरिकता नहीं दी जा रही है। अगर आपके पास कोई जानकारी या तथ्य हैं इस प्रकार के आप बताइए मेरा आपसे वादा है कि इसके जिम्मेदार मुलाजिमों की नौकरियां खाने तक main लड़ता रहूँगा।
सातवां सवाल-> कई पाकिस्तानी नागरिक भारत में आ के लापता हो गये वो कहाँ है?वो क्या कर रहें हैं?हम छोटे गाँव के है आप को तो पता ही होगा वो कहा हैं अगली पोस्ट में बताने कि कृपा करें

jawab-> ये जवाब आप पूरे मुस्लिम समुदाय से क्यूँ मांग रहे हैं? आपको सूचना अधिकार के बारे में तो पता ही होगा. दस रुपये खर्च कीजिये और मांगिये जवाब गृह मंत्रालय से. उनको जिसने भी पनाह दी है अगर आपको पता होगा तो तत्काल के अच्छे नागरिक होने का कर्त्तव्य पूरा कीजिये. पुलिस को सूचना दीजिये देखिये पुलिस एक्टिव होती है या नहीं. अगर आपने यहाँ गाना गाने से पहले गृह मंत्रालय से कोई सूचना मांग लेते तो यहाँ आपको भी डिबेट करने में आसानी होती और हमें भी जानकारी मिल जाती.

4 टिप्पणियाँ:

manoj dwivedi ने कहा…

satik jabab diya hai apne.Vaise AFJAL GURU ki fansi ke baare main kuchh batana chahta hun. home ministry ke mutabik abhi PRESIDENT ke paas 28 mamle lambit hain. AFAJAL GURU ka no. 22nd hai. Ye gov to kya agle 5 salon tak koi sarkar use fansi nahi de sakti. kyunki line me abhi 21 log hain. uske bad hi afajal guru ka no. ayega.

हरभूषण ने कहा…

चंदन भाई इसे कहते हैं तार्किक उत्तर लेकिन प्रशांत जी तो सारे मुस्लिम समुदाय के पीछे नहा धो कर पड़े हैं खुद सूचना प्राप्ति के अधिकार का प्रयोग नहीं करते और भड़ास मंच को गाली दे रहे हैं। मैं फिर इन्हें कहता हूं कि मुनव्वर आपा को पढ़ें। जस्टिस आनंद सिंह की लड़ाई सरकार की इच्छा शक्ति में कमी और मनमानी के विरुद्ध ही है बड़ी लम्बी लड़ाई है भाई दस-बारह पोस्ट भड़ास पर लिख देने से तो पूरी नहीं हो जाने वाली है ये एक सार्थक मंच है तो हम इसे उपयोग करें न कि इसके पाए हिलाते रहें।
जय जय भड़ास

बेनामी ने कहा…

अच्छा लिखते हैं, इसे भी देखिए...
http://ayushved.blogspot.com/

Badshah Basit ने कहा…

मैं आप सब से उम्र में छोटा हूं लेकिन ये जो भी कर रहे हैं सक्सेस मंत्रा जी मुझे बिलकुल अच्छा नहीं लग रहा है
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP