नेता कौन ? कैसा? ( एक व्यंग)

गुरुवार, 26 मार्च 2009

राष्ट्रिय राज मार्ग का यह दृश्य बयां कर रहा है हमारी राजनितिक भूमिका को । क्या ये ही स्थिति हमारे लोकतंत्र का नही है ?
गडेरिया नेता और उसके साथ भेड़ का भीड़ !!!!
देश का नेतृत्व, आप जन का साथ आम जन का हाथ
जय जय भड़ास !

3 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाई ये साले कमीने राजनेता गड़रिया से तुलना के योग्य नहीं है ये कसाई हैं सब,गड़रिया अपनी भेड़ों की रक्षा करता है भेड़ियों से लेकिन इन हरामियों ने तो खुद ही अपनी भेड़ों का मांस खाना,खून पीना और चमड़ा उधेड़ना पिछले साठ साल से जारी रखा है एक बार फिर कहता हूं ये गड़रिया नहीं कसाई हैं साले....
जनता कुछ-कुछ भेड़ जैसी न होकर गधों जैसी है शायद...:(
जय जय भड़ास

mark rai ने कहा…

is picture ne to mujhe hilakar rakh diya ...kaphi der tak socha....par kuchh desigion nahi le paaya....phir haalat par hi chod diya aur bhedon ko gour se dekhane laga...netaaon ki chhabi dikhi ..

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

तस्वीर की धार बड़ी तेज है , किसी न किसी नेता को जरूर लगेगी ......:)

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP