मुंबई के प्रशिक्षित भिखारी बच्चे

गुरुवार, 26 मार्च 2009

आपको मुंबई के रेलवे स्टेशनों पर ऐसे भीख मांगते हजारों बच्चे मिल जाएंगे जो कि आपसे ऐसा व्यवहार करते हैं जैसे कि आप उनके चाचा या मामा हो जिनसे पैसे मांगना उनका हक है। आइसक्रीम वाले के पीछे लग कर सबने आइसक्रीम तो पा ली अब धंधे पर लगा जाए क्योंकि शाम को हिसाब देना होता है शायद यही चर्चा चल रही है इन लड़कियों में आइसक्रीम का मजा लेते हुए......

1 टिप्पणियाँ:

Manoj dwivedi ने कहा…

sarthak pahal kari hai guruji..ye bharat ki asali sachchai hai.

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP