मीडिया माफ़िया यशवंत सिंह को तेल लगाते संजय सेन सागर...

शुक्रवार, 27 मार्च 2009

मात्र कुछ समय पहले तक हिंदुस्तान के (सिर)दर्द संजय सेन के विचार स्वयं को मीडिया माफ़िया मानने वाले चिरकुट यशवंत सिंह के बारे में क्या विचार थे खुद ही देख लीजिये और अब क्या हैं वो आप देख रहे हैं कारण साफ़ है कि दोनो में सांठ-गांठ हो गयी है अब कोई दिक्कत नहीं है।
यशवंत सिंह की क्या नैतिकता है ये तो उसके लेखन से दुनिया को पता है लेकिन जो बेचारे इस पाखंडी को नहीं जानते उनके लिये प्रस्तुत है उसकी हड्डियों के खोखलेपन का एक नमूना.......

संपादकीय नैतिकता की उम्मीद मत करिये और लोभी बनियों की कोई नैतिकता होती ही नहीं जैसा कि संजय सेन ने कर दिखाया है।

मेरे बारे में कशिश गोस्वामी(न जाने किस गरीब लड़की की तस्वीर लगा कर प्रोफ़ाइल बनाया है,जीवित भी है या नहीं?) के नाम से लिखने वाले पोकल संजय सेन को एक हिट मिल दीजिए ताकि उसके घर में चूल्हा जलता रहे वरना बेचारे को क्या-क्या करना पड़ता है किसे किसे तेल लगाना पड़ता है। उसकी लिंक नीचे की पोस्ट में है जरूर जाकर मेरी प्रशंसा पढ़िये और आनंदित होइये कि जब आप किसी मुखौटाधारी का मुखौटा नोच लेते हैं तो वह कैसे सच खुलने पर बिलबिलाता है गालियां देता है....
जय जय भड़ास

2 टिप्पणियाँ:

Manoj dwivedi ने कहा…

Ye kamina apni adaton se baj nahi aa raha hai..iska ilaj nihayat jaruri ho gaya hai..

Manoj dwivedi ने कहा…

Ye kamina apni adaton se baj nahi aa raha hai..iska ilaj nihayat jaruri ho gaya hai..

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP