यह खुशी के पल रजनीश जी के साथ

शनिवार, 4 अप्रैल 2009


एक खुशी का पल जब दो मित्र हृदेश अग्रवाल और भाई रजनीशजी

8 टिप्पणियाँ:

दीनबन्धु ने कहा…

हृदेश भाई और भाई रजनीश जी हम सब भड़ासी दिल से एकदूसरे से इतने ही करीब हैं|भड़ास एक वेबपेज नहीं जिंदगी जीने का अंदाज बनता जा रहा है, डा.रूपेश के शब्दों में भड़ास का अपना एक निजी दर्शन है। उन्होंने एक संचालन समिति बनाने के आपके सुझाव का ज़िक्र करा था,अच्छा सुझाव है।
जय जय भड़ास

Harkirat Haqeer ने कहा…

मेरी भडास के सभी सदस्यों से एक गुजारिश है ..आपने जिस महिला की तस्वीर अपने ब्लॉग में (मुनव्वर सुल्ताना) लगा रखी है कृपया उस से पूछें की मेरी नज़्म को अपने नाम से अपने ब्लॉग में डालने का हक उसे किसने दिया......क्या इस घृणित कार्य में आप उसके साथ हैं...???
अगर नहीं तो मुझे न्याय दिलाएं ....!!

MUFLIS ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
अजय मोहन ने कहा…

रजनीश भाई और हृदेश भाई इस प्रेम भरे आलिंगन में हम सब को भी जुड़ा समझिये। हृदेश भाई तो देखने में बिल्कुल मेरे छोटे भाई जैसे लग रहे हैं
जय जय भड़ास

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाई वाशी रेल्वे स्टेशन याद आ गया...
इसी तरह एक दूसरे को सीने से लगाए सुख-दुःख बांटते चलें यही जिंदगी है मेरी नजरों में।
जय जय भड़ास

manu ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
mark rai ने कहा…

rajnish jee mera bhi ek dost bachpan se bichhada hua hai ...khoj raha hoon ..har nahi manuga ...

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

भाई मनु,
मैं हिन्दी भवन में गया था हिंद युग्म के वार्सिकोत्सव में.
बहर्हा मेरा नंबर ९८९९७३०३०४ है.
धन्यवाद

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP