एक सवाल डॉ साहब के लिए भी है

रविवार, 14 जून 2009

दिल तोड़ने वालों को सज़ा क्यों नही
हर किसी को प्यार की दुआ क्यों नही
लोग कहते हैं इश्क तो एक बीमारी है
फिर मेडिकल में उसकी दवा क्यों नही

3 टिप्पणियाँ:

अजय मोहन ने कहा…

अमित भाई! डा.साहब तो यकीनन पागलों का इलाज कर सकते हैं। आप इश्क नामक बीमारी के लक्षण बताइये तो वे बताना शुरू कर देंगे कि कफ पित्त और वात की क्या स्थिति है और उसकी क्या आयुर्वेदिक औषधियां हैं। मेरी नजर में एक कारगर आयुर्वेदिक दवा है इस मर्ज़ की वो है जमालगोटा; इसे सही मात्रा में दे देने से सारी बीमारी पीछे के रास्ते से होकर निकल जाएगी। जितनी बार दौरा पड़े मात्रा बढ़ा कर देते जाएये इश्क की बीमारी खत्म हो जाएगी:)
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

डाक्टर साहब के लिए प्रश्न जवाब भी रुपेश जी ही देंगे.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP