स्कूली बच्चों की बढ़ती आत्महत्याओं के लिये उपाय सुझाते राज ठाकरे

गुरुवार, 21 जनवरी 2010

स्कूली बच्चों की बढ़ती आत्महत्याओं के लिये महाराष्ट्र के परम आदरणीय मानवरत्न श्री श्री अनंत श्री विभूषित श्री राज ठाकरे साहेब जी महाराज ने अपनी फिसलती जबान से दिए प्रवचनों में कहा है कि यदि इस समस्या का हल निकालना है तो इसके लिये शिक्षा मंत्री चे कानाखाली जोरात आवाज़ काढ़ायला पाहिजे यानि "कान के नीचे जोरदार आवाज निकालनी होगी"(इसका आशय कनपटी पर थप्पड़ मारना होता है)। तो कितने प्रतिशत मराठी अभिभावक इस परम पुनीत कार्य के लिये तैयार हैं चलिये भड़ास पर हमारे मोबाइल नंबर 09224496555 पर अपनी प्रतिक्रिया भेजिये ताकि आपके बच्चों को आत्महत्या से बचाया जा सके। काश यदि ये सलाह पहले दे दी गई होती तो कई बच्चे बच सकते थे।
हो सकता है कि महाराष्ट्र के नवनिर्माण के लिये कटिबद्ध श्री राज ठाकरे जी महाराज इसका क्रियान्वयन स्वयं कर दें जैसे कि उनके चम्मचों ने अबू आजमी को सदन में धोकर अपनी बात को सिद्ध कर दिया था।
जय जय भड़ास

1 टिप्पणियाँ:

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

आ के कान के नीचे आवाज लगाना होगा जो अपनी बे सर पैर कि हड्कतों से खामखा में मराठी माणूस का चरित्र राष्ट्र के सामने ख़राब कर रहा है.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP