चलिये एक एक करके ये मुद्दे चबाइये इसी को तो ब्लागिंग कहते हैं न?

गुरुवार, 5 अगस्त 2010

पहला मुद्दा है मंहगाई का जिस पर सरकार और असरकार आपस में मिल कर आम जनता को मूर्ख बनाने का दशकों पुराना नाटक खेल रहे हैं।
दूसरा मुद्दा थोड़ा सा पुराना है जिसे पहले नक्सलवाद और आजकल माओवाद कहते हैं।
तीसरा मुद्दा मुद्दा और अधिक पुराना है जो कि काश्मीर का है कि वहां पुलिस और जन सामान्य में मारकाट क्यों हो रही है?
मुंबई में मलेरिया फैल रहा है इसके लिये गंदगी जिम्मेदार है या मुंबई में आए बाहरी लोग?
महाराष्ट्र सरकार ने वाहनों पर ग्रीन टैक्स लगा दिया है अब आप पैदल चलेंगे या फिर भी वाहन खरीदने का इरादा रखते हैं?
भाई इतने सारे मुद्दे हैं इनको निचोड़ा जाए तो बरसों बरस तक बिना हगे मूते लिखा जा सकता है, बहुत से तो क ख ग घ लिखना जानने वाले साक्षर भी इन्हीं मुद्दें की च्युंगगम चबा कर लेखक कहलाने लगे हैं तो ससुरे भड़ासी ब्लागर तक नहीं बन सकते?
जय जय भड़ास

3 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाई कामनवेल्थ भूल गया था चाहें तो इसे भी चबा चूस लीजिये आजकल सभी तो इसी को चूस चाट रहे हैं
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

जय गुरुदेव,
सही कहा आपने वैसे जाहिलों की फ़ौज ने वी एन राय पर सबसे ज्यादा लिखा है, और अभी भी कुचली वाले कुत्ते की तरह खुजा रहे हैं इसे भी जोड़ दीजिये.
जय जय भड़ास

मनोज द्विवेदी ने कहा…

SAHI BAT HAI. JAN SAROKAR KAM HOTA JA RAHA HAI. SANSANI KE PICHHE MEDIA BHAG RAHI HAI..

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP