गला दबा देने से श्वांस नली के कैंसर से कराहने वाला मरीज़ तो ठीक हो नहीं जाएगा

गुरुवार, 23 सितंबर 2010

हमारी केन्द्र सरकार ने एक अत्यंत बुद्धिमत्तापूर्ण निर्णय लिया है ऐसा उन्हें लगता है। एस.एम.एस. भेजने वाली वेबसाइट्स पर सरकार ने रात एक बजे से प्रतिबंध लगा दिया है। अब सोचने वाली बात ये है कि क्या एस.एम.एस. भेजने वाली वेबसाइट्स पर प्रतिबंध लगा देने से या फिर मीडिया के भोंपुओं पर रोक लगाने से मसला खत्म हो जाएगा? मोबाइल तो चालू हैं साथ ही क्या गला दबा देने से श्वांस नली के कैंसर से कराहने वाला मरीज़ तो ठीक हो नहीं जाएगा। सरकार समस्या नहीं सुलझाती है बल्कि समस्याओं की चर्चा को रोकती है , ये सचमुच की बुद्धिमत्ता है क्योंकि ये एक बौद्धिक निर्णय है। चाहे अयोध्या हो या नक्सलबाड़ी ऐसा ही चलने दो भाई हमारे देश की सरकार है।
सरदार है असरदार है सरकार है असरकार है....
जय जय भड़ास

2 टिप्पणियाँ:

मनोज द्विवेदी ने कहा…

SARDAR HAI ASARDAR HAI
SARKAR HAI ASARKAR HAI....

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

वाह मनोज जी,
क्या खूब कही,
सरदारों का असरदार.....
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP