श्याम जगोता जी आप यदि "चूतिया" नहीं तो क्या हैं??

शनिवार, 4 सितंबर 2010


जैसे ही किसी को भड़ासियों ने चूतिया कहा तो सुनने वाला नाराज हो जाता है क्योंकि उसे तो हमेशा सर जी, साहब जी, जनाब आदि सुनने की आदत हो चुकी होती है। भड़ासी वैसे भी जाहिल और गँवार किस्म के लोग हैं जो कि घोषित तौर पर बुरे लोग है। भड़ासियों को किसी से भी अच्छा होने का चरित्र प्रमाण पत्र नहीं चाहिये। हमें वो क्या चरित्र प्रमाण पत्र देंगे जिनके खुद हजार चेहरे हैं और हर पल अपना किरदार बदल रहे हैं। बात है श्याम जगोता जी को अजय मोहन भाई द्वारा चूतिया कहने की जिस पर वो काफ़ी टिपुर गये हैं। मुझे कहा गया है कि इस बहुप्रचलित शब्द की भड़ासाना व्याख्या करूँ तो बताना है कि भड़ास दर्शन के अनुसार ये शब्द एकदम जमीन से जुड़ा हुआ है। इसमें अश्लीलता लेशमात्र नहीं है। आप सबने एक शब्द सुना होगा "भूत"। ये शब्द यदि समय के संदर्भ में प्रयुक्त हो तो अतीत यानि कि गुजरा हुआ जो है वह भूत कहलाता है लेकिन साधारणतः इसे मरे हुए व्यक्ति की आत्मा से जोड़ कर प्रयोग करा जाता है। इसी भूत शब्द से उपजा शब्द है भूतिया जैसे कि भूतिया महल, भूतिया कहानी, भूतिया फ़िल्म आदि। अब आते हैं इसी तर्ज़ पर बने शब्द चूतिया पर जो कि अपने मूल शब्द "चूत" से उपजा है(कथित शरीफ़ आदमी तो अब तक आलेख पढ़ना भी बंद कर चुके होंगे)। मैं इस शब्द का जो साहित्यिक अर्थ जानता हूँ उसका प्रमाण पूरी दुनिया के सामने रख रहा हूँ कि चूत शब्द का अर्थ है आम(प्रस्तुत गृन्थ के पृष्ठ क्रमाँक ३४ पर देखिए)। अब आम शब्द पर आइये तो ये निम्न अर्थों में प्रयुक्त है एक तो फल और दूसरा सामान्य अथवा साधारण जैसे कि आम आदमी जो कि आम की तरह ही चूसा जाता है। आम आदमी का साधारणपन, उसकी सामान्यता उसे आमिया तो नहीं कहला पाती लेकिन चूतिया जरूर कहला लेती है। आम की मिठास और आम आदमी के साधारणपन से जुड़ा ये चूत(आम) शब्द भड़ास पर चूतिया शब्द का मूल स्वीकारा गया है। यदि कोई भाषा विशेषज्ञ इस चूतिया शब्द को किसी अन्य प्रकार से परिभाषित करके अश्लील बनाना चाहे तो स्वतंत्र है लेकिन भड़ास पर चूतिया यानि कि सादा, सीधा और साधारण आदमी जो कि आम आदमी है। इस प्यारे से जमीनी शब्द में गाली की अश्लीलता किधर से आ गयी भाई?
जय जय भड़ास

7 टिप्पणियाँ:

आयशा धनानी ने कहा…

ग्रे....ट जी ग्रेट पापा जी तुस्सी ग्रेट हो छा गये जी। पूरी दुनिया में आप जैसा कोई नहीं है ये आपने प्रूव कर दिया। चूतिया शब्द की ऐसी व्याख्या कोई भाषा विज्ञानी नहीं कर सकता। आपने बता दिया कि भड़ास जमीन से जुड़ा है और भड़ास की अपनी निजता है
जय हो आपकी
जय जय भड़ास

अजय मोहन ने कहा…

चिटठाजगत ने आपकी पोस्ट को वयस्कों वाला लेबल चिपका रखा है उन्हें लगा होगा कि आप भी कुछ अश्लील लेखन करने लगे हैं ;)
श्याम जगोता जी किधर गोता खा रहे हैं आपकी बात पर कुछ बोलते क्यों नहीं?
जय जय भड़ास

अन्तर सोहिल ने कहा…

पता ही नहीं था जी, मैं भी "चूतिया" शब्द को गाली ही समझता था।

प्रणाम स्वीकार करें

s.s.avin ने कहा…

sir jee aap ne to aankhe khol di! Great ab hum Shan se "chootiya" Kah sakte hain!

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

जय हो गुरुदेव की,
परिभाषा की समझ से परे इन चूतियम सल्फेट को समझाना जरा कठिन है क्यूंकि इन सभी चूतियम महाराज ने बौद्धिकता का लबादा जो ओढ़ रखा है.
जय जय भड़ास

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

वाह. अब तो किसी को भी चूतिया कहा जा सकता है... किसी को भी...

प्रदीप कुमार ने कहा…

मैंने आज पहली बार जाना कि आम का पयार्यवाची शब्द "चूतिया" शब्द का जनक है...अच्छा लेख है, लेखक की बेबाकी को विशेष प्रोत्साहन....॥

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP