विश्व हिंदू परिषद का प्रवक्ता राक्षस है हिंदू-मुसलमानों अभी भी जाग जाओ वरना आपस में लड़ कर मर जाओगे

शनिवार, 4 सितंबर 2010

जल्द ही अयोध्या रामजन्म भूमि के बारे में लंबित कानूनी फैसला आने वाला है। एक बार फिर विश्व हिंदू परिषद सामने है। जब किसी इस्लामिक संगठन का प्रवक्ता या सदस्य कोई दूसरे धर्म को मानने वाला जैसे ईसाई या बौद्ध नहीं हो सकता तो फिर जब जैन हिंदू होते ही नहीं तो सुरेन्द्र जैन विश्व हिंदू परिषद में प्रवक्ता बन कर क्या कर रहा है। हम लोग हमेशा से आप सभी को चेतावनी देते आ रहे हैं कि आप जब तक इन राक्षसों को नहीं पहचानते इसी तरह इनकी खतरनाक साजिशों का शिकार बन कर आपस में लड़ते रहेंगे और आपकी औलादें तक गारत हो जाएंगी। ये राक्षस राम मंदिर को राष्ट्रीय गर्व का मुद्दा बता कर हिंदुओं को भावनात्मक तौर पर भड़काने का पूरा प्रयास कर रहा है। आप सब यदि इन राक्षसों को नहीं पहचाने तो आपस में लड़ कर मर जाएंगे और ये दुनिया पर शासन करेंगे। मुसलमानों आप सब भी चेत जाइये ये वही लोग हैं जो कि इस्लाम की किताब कुरान शरीफ़ पूरी होने के बाद सैकड़ों नकली बनावटी हदीसें लेकर आ गये हैं जिनके चलते अब आप लोग आपस में जूझ रहे हैं। हिंदू मुसलमानों और ईसाईयों एक होकर इन राक्षसों का सर्वनाश करो।
जय नकलंक देव
जय जय भड़ास

11 टिप्पणियाँ:

दीनबन्धु ने कहा…

आपने सही कहा कि हिंदू संगठन में जैन प्रवक्ता क्या कर रहा है। मैंने आज तक नहीं देखा कि किसी मुस्लिम संगठन में ईसाई प्रवक्ता हो या हिंदू प्रवक्ता हो... ये सारी दाल ही काली है दाल में काला नहीं है
जय जय भड़ास

अजय मोहन ने कहा…

आपकी बात सही सी लगती है कि हिन्द्यों के धार्मिक संगठन में जैन क्या कर रहा है?
जय जय भड़ास

ज़ैनब शेख ने कहा…

You are right.What a jain is doing there in Hindu organization??
jay jay bhadas

मुनेन्द्र सोनी ने कहा…

एक बार फिर आपने जो बताया वह चौबीस कैरेट सत्य है
जय जय भड़ास

बेनामी ने कहा…

तो क्या जैनियों में दिमाग नहीं होता? या जैनी अपनी खुद की कोई राय नहीं रख सकते?

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

वस्तुतः ये कोई धार्मिक संगठन नहीं अपितु दलालों की टोली है जो बजरुओं को इकठ्ठा कर के उगाही कर अपना अपना धंधा चला रही है.
दाल क्या काली क्या पिल्ली सभी साले इसमें काले पीले हैं.
जय जय भड़ास

भारतीय नागरिक - Indian Citizen ने कहा…

मुसलमानों के प्रवक्ता पीर पैगम्बर होंगे.....

avenesh ने कहा…

KUCH BADHIYA LIKHO....CHICHLE POST LIKHKR KYA DIKHANA CHAHTE HO..SUDHAR JAAO ..BLAGRO

हरसा जाट ने कहा…

vishva hindu parishad ekdam sahi he..samjhe

aditya ने कहा…

dinbhandu g itna he smajo or likho jitni akl hai.tum kis ma ke aulad ho jo itna bhe nahi smagty k hindu dhram ke jain dhram ek sakha hai. tum to dibhundu nahi ho din hin ho.khabardaar jo eysha aagy sy likha to.smaj mai ghand flaity hai thumary jaisy log

डॉ.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

@aditya
अरे यार तुम कितने बड़े चिरकुट हो जो इतने जूते खाकर भी नहीं सुधरते साला बार बार नाम बदल कर वकालत में उतर आते हो लेकिन जब लोग बोलते हैं तो गाली-गलौज करने लगते हो। क्या तुम सचमुच ये मानते हो कि हिंदू धर्म और जैन धर्म एक हैं??
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP