बुधवार, 20 अक्तूबर 2010

बुद्दू बक्से में सिनेमा


गोकुल धाम में बोबी की हिट जोड़ी ऋषि और नीतू ,ऍफ़आईआर में झूठा ही सही के जोनअब्राहम तो न आना इस देश लाडो में हिस्स की नई नागिन माल्लिका शेरावत..... जी हाँ----- ये नज़ारे अब आम हो गये हैं बड़े बजट की फिल्मे अब छोटे और आम लोगो की सीरियलों पर आश्रित हो गयी है .टेलीविजन से नाक-भौं सिकोड़ने वाले बड़े फ़िल्मी सितारे अब टीवी कलाकारों के पास पहुच अपनी पहचान बताने में जुटे हैं अब इसे फिल्म इंडस्ट्री का नया फ़ॉर्मूला कह ले या फिर उनकी मज़बूरी .......सिनेमा प्रचार का एक नया फंडा शुरू हो गया है ,हिंदी सिनेमा बुद्दू बक्से यानि टेलीविजन के भरोसे रह गया है। टेलीविजन पर प्रसारित होने वाले करीब-करीब सभी सीरियल और रियलिटी शो में फिल्मो का जलवा देखने को मिलता है। सिनेमा हाल में दर्शको का इंतजार कर रही हो या फिर भविष्य में रिलीज होने वाली फिल्म हो उसका प्रमोशन टीवी पर जरुर देखने को मिल जाएगा। प्रमोशन के लिए भी फिल्मकारों के बीच जबरदस्त होड़ से मची है सीरियल में आने से पहले ही उसका जमकर प्रचार होता है और फिर एक हीरो या हिरोईन किसी सीरियल में दिखे नही की दुसरे में कोई और आने को तैयारफिल्म के प्रमोशन के लिए भी चर्चित और टीआरपीमें आगे चल रहे कार्यक्रमों का चयन किया जाता है। इससे फिल्मवालो को फायदा हो या न हो लेकिन दर्शको को मुफ्त में आपने चहेते सितारों को देखने का मौका मिल जाता है और नई फिल्मो के बारे में जानकारी मिलने के साथ-साथ उसे देखने या न देखने का फैसला कर पाना भी आसान हो जाता है.....शायद ये टेलीविजन की गाँव-गाँव तक पहुच और उसकी लोकप्रियता का भी कमाल है।
-पंकज भूषण पाठक"प्रियम "

1 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

पंकज भाई आगे आगे देखिये क्या होता है सिर्फ़ सिनेमा ही नहीं सब कुछ प्रचार माध्यम के आधीन हो जाएगा
वो बक्सा बुद्धू नहीं है उसको चलाने वाले पूरी दुनिया को बुद्धू बना रहे हैं।
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP