आज का मुहावरा अगर समझ सको तो ज्ञानी

बुधवार, 17 अगस्त 2011

अरे वाह समझ गये आप तो ,जो जो समझ गये है वो अपना नाम नीचे लिखते रहे

6 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

अमित जी भड़ासी हूँ इसलिये ज्ञानी होने का आरोप हरगिज बर्दाश्त नहीं करूंगा लेकिन यदि मुहावरों की बात है तो लीजिये...
१)भड़ासियों के लिये खास तौर पर "काला अक्षर भैंस बराबर" और "अक़्ल बड़ी या भैंस?"
२)भड़ासियों के लिये ही दूसरा विशेष मुहावरा "न तीन में न तेरह में बीन बजाएं डेरा में"
३)सामान्यतः प्रयुक्त मुहावरा "भैंस के आगे बीन बजाएं भैंस खड़ी पगुराए"
जय जय भड़ास

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

wah dr wah ,
आपने एक के बदले ३ बताये ,
इसलिए हम बहुत हर्षाये...:)

आयशा धनानी ने कहा…

क्या बात है अमित जैन अब अपनी प्रोफ़ाइल इमेज में मार्फ़िंग का डर खत्म हो गया या फिर पिताजी ने भरोसा दिला दिया कि बच्चे की तस्वीर से कोई छेड़खानी नहीं करेगा :)
जय जय भड़ास

काम रस से भरी कहानिया ने कहा…

बिलकुल सही खा आपने आयशा बहन ,अब तो मै ये उम्मीद कर सकता हू की बच्चे की तस्वीर से छेड़खानी नहीं होगी

मुनेन्द्र सोनी ने कहा…

अरे अमित जैन दोबारा तुम्हारा प्यार पत्नी के प्रति फूट पड़ा लेकिन उसे सार्वजनिक क्यों करते हो?जब कोई कह देता है कि गलबहियाँ करने में व्यस्त हो तो सबको गालियाँ देने लगते हो। मुझे भी अपनी पत्नी से प्रेम है लेकिन उसके साथ लिपट-चिपट कर तस्वीर खींच कर भड़ास पर तो नहीं लगा सकता। वैसे अश्लील तो ये भी नहीं है और आपकी पहले वाली तस्वीर भी नहीं थी लेकिन आपने और आपके वकील प्रवीण जैन(शाह)ने जानबूझ कर सारा तमाशा करा था ताकि एक गम्भीर शोधपरक चर्चा का रुख बदला जा सके। आप खुशफ़हमी में हैं कि अब तंत्रमंत्र के अनिष्टकारी प्रयोगों पर चर्चा नहीं होगी। विज्ञान के जिन पहलुओं पर हम गौर कर सकते हैं अवश्य करेंगे लेकिन आपने आज तक नहीं बताया कि आपके अनुसार "नीच"डॉ.रूपेश श्रीवास्तव द्वारा बनाए उस वीडियो की जाँच आप महाविद्वान लोग कैसे करेंगे??
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP