मरफी के नये नियम

बुधवार, 21 जनवरी 2009

अगर आप हिन्दुओं पर हो रहे अत्याचार पे आवाज उठाते हैं तो आप भगवा होते हो चाहे आप दुनिया के किसी कोने में रहते हों।(जैसा कि अजय मोहन जी [फंडू सेक्युलरिस्ट]ने मुझे घोषित किया{धन्यवाद}) 


अगर आप बुकर या मैग्सेसे पुरस्कार पाना चाहते हैं तो अफजल गुरू ,कशाब,दाउद के मानवाधिकार की बात करें यकीन माने पक्का मिलेगा।(अगला नामांकन अजय मोहन जी का तय)


दुनिया का सबसे चूतिया धर्म हिन्दु है आप इनपे कहीं भी धौंस जमा सकते हैं हिन्दुस्तान में भी


अगर आप मुसलिम(आतंकवादी) हैं और आप इन्डिया में हैं तो आप मलाई काटने के लिये तैयार रहें


अगर आप मुसलिम(आतंकवादी) हैं और आप मंत्री हैं तो आप कुछ भी कह सकते हैं और आप का कोई बाल भी बाका नहीं कर सकता(अंतुले)

3 टिप्पणियाँ:

manoj dwivedi ने कहा…

VICHAR GALAT NAHI HO SAKTE. LEKIN ATYACHAR SIRF 'insaan' PAR HOTA HAI. HINDU, MUSLIM, SIKH, CHRISTIAN, TO INSONO KI JATIYAN HOTI HAIN. KISI JATI YA DHARM KE CHASME SE DEKHNE KE BAJAY 'insaniyat ke chasme' SE DEKHA JAYE TO JYADA BEHTAR HOGA....ANYAY KA HAR BINDU PAR VIRODH HONA CHAHIYE. YE NAHI KI AJ HINDU MARA GAYA TO VIRODH AUR MUSLIM PAR ATYACHAR KIYA GAYA TO KHUSH HO JAYE. AISA KARNE WALE HINDU BHI HO SAKTE HAIN AUR MUSLIM BHI.. HAMEIN AISE SABHI LOGON KA JAMKAR VIRODH KARNA CHAHIYE.. TABHI KUCHH KIYA JA SAKTA HAI.

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

भाईसाहब मुझे भी बकर-बकर करते करते कोई बुकर-बुकर किस्म का एवार्ड दिला दीजिये
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

भाई,

आतंक सिर्फ़ आतंक होता है, ना हिंदू होता है ना मुसलमान होता है, आप मुसलमानों पर आरोप लगा सकते हैं, ये आपके अभिव्यक्ती की स्वतंत्रता है मुदा भूलियेगा नही की भारत का मिसाइल मैं मुसलमान है,

हम भारतवाशियों की एक मात्र पहचान इंसानियत की है जो सभी धर्मो को अपने में समाहित करता है, सभी को इज्जत देता है क्यूंकि सभी से इज्जत लेता है. आतंकी की आतंक से क्या उस सम्बंधित कॉम के लोग बच जाते हैं,

बैर के बजाय प्यार के रास्ते को अपनाइए और नही अपना सकते तो क्यूँ ना दुसरा कसाब आप ही बने.
बनियी हिंदू आतंकी जाइये पकिस्तान और फिदायीन हो के आइये.

हमारे तिरंगे को, हमारी भारत माता को, प्यार और सद्भाव की इस भूमि को बदनाम ना करिए.

जय हिंद

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP