मुखौटेवाला बनिया भड़ासियों से पीछा छुड़ाने कि लिए साम्प्रदायिकता का जहर फैलवा रहा है

शुक्रवार, 23 जनवरी 2009

भड़ासियों आप इतने भोले हैं कि बनिये की चालाकी को समझ नहीं पाये जबकि मैं ऐसे कमीनों की एक-एक नस समझता हूं। ऐसे ही लोग थे मुझे आपराधिक जीवन में ढकेल कर अपने काम साधने वाले क्योंकि इनमें खुद में न तो हिम्मत होती है और न ही ताकत तो ये किसी दूसरे से अपने काम करवा लेने में माहिर होते हैं। भड़ासी होने का मुखौटा लगाए बनिये ने भी सक्सेस मंत्रा नामक ब्लागर का इस्तेमाल करा ताकि भड़ासी साम्प्रदायिकता की आग बुझाने में उलझे रहें और वो धनिया की जगह घोड़े की लीद बेचता रहे। बड़ा शातिर है ये बनिया जिसने भड़ास तक को बेच लिया है और ये सक्सेस मंत्रा या तो उसके ही पिट्ठू हैं या उसके द्वारा भावना में फंस कर इस्तेमाल हो रहे हैं।
जय जय भड़ास

4 टिप्पणियाँ:

फ़रहीन नाज़ ने कहा…

आप सही कह रहे हैं मुझे भी इस बात का एहसास हुआ है कि मुखौटाधारी बनियेराम इस बंदे की भावनाओं का इस्तेमाल हमें भरमाने के लिये कर रहे हैं ताकि हम उसकी बखिया उधेड़ना छोड कर इसमें उलझ जाएं।
जय जय भड़ास

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

तोलू लोगों से घिर गया है बनिया...बौखला गया है बनिया...भाट और चारणों ने घेर लिया है बनिये को...महानता का राग अलाप कर आशीर्वाद दे रहा है बनिया....भड़ास को बेच न पाया बनिया... हम लोगों ने भड़ास को पुनर्जन्म दे दिया तो पगला गया है बनिया....
जय जय भड़ास

हिज(ड़ा) हाईनेस मनीषा ने कहा…

जाने दीजिये वो हमारा अंदाज किसी भी तरह से बदल नहीं सकता है ये उसे भी खूब अच्छे से पता है।
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP