स्लम डाग ही क्यो ....

सोमवार, 23 फ़रवरी 2009

आस्कर का मापदन्ड क्या है ये भारतीयो के समझ से परे है पूर्व मे स्लम.... से बेहतर हीन्दी फ़ील्मे वहा गई , पर उन्हे इसके काबील नही समझा गया । शायद वहा फ़ील्म से ज्यादा महत्वपूर्ण डाईरेक्टर के चमणी का रन्ग होता है. जय जय भडास

2 टिप्पणियाँ:

Manoj dwivedi ने कहा…

isliye ki apne jo likha hai. director gori chamadi ka tha.

friend of GOD ने कहा…

कमीने तू बना ऐसी फिल्म

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP