हिंदू नववर्ष पर महाराष्ट्र का पर्व "गुडी पाड़वा"

गुरुवार, 26 मार्च 2009

हिंदू नववर्ष के अवसर पर राजनेता भला क्यों मौका चूकते तो सबने अपने-अपने हिंदुओं के नजदीक होने का प्रमाण देने के लिये भरपूर कोशिश जारी रखी, झांकिया दर्शाती शोभायात्राएं स्कूलों से लाए गये बच्चे जो शायद आज घर पर रहना चाहते होंगे लेकिन मजबूरी है कि स्कूल कांग्रेस के भूतपूर्व सांसद का है तो फिर......

आखिर बूढ़े हो तो क्या....? खाते नहीं हो क्या? चलो खुशी... दिखाओ हमारा राज्य है
बेचारे स्कूली बच्चे मेकअप में रंगे शिवाजी बने बच्चे को शर्बत नहीं मिला क्योंकि नकली दाढ़ी-मूंछ गीली होकर खराब हो जाएंगी
नीचे चलने वालों को तो शर्बत भी मिल गया.....हमें तो कुछ भी नहीं..... ट्रक में सामान की तरह लादे गये बच्चे.......
ये सारा ड्रामा करा गया कांग्रेस के स्थानीय नेताओं की तरफ़ से.......
बहुत सारी तस्वीरें ली जा सकती थीं लेकिन मन भड़ास में उलझ गया। करीब एक लाख रुपए से अधिक के पटाखे जला डाले, दो हजार से अधिक लोगों की भीड़ जुटा डाली, जय भवानी-जय शिवाजी के साथ साथ मस्जिद के सामने से सैकड़ों भगवा ध्वज लिये हिंदू जनजाग्रति सभा के लोगों ने नारा लगाया ’जो हमसे टकराएगा चूर चूर हो जाएगा’..... इससे आप समझ सकते हैं कि मेरी मनोस्थिति कैसी हो गयी होगी कि ये नववर्ष का उल्लास है या मात्र भीड़ तंत्र का प्रयोग करके शक्ति प्रदर्शन करने का तरीका????? कल को हिजरी संवत के शुरू होने के दिन मुस्लिम नेता अपनी बारात लेकर निकलेंगे और मंदिर के सामने यही सब दोहराएंगे और फिर बस........... दिमाग खराब कर दिया..... बेकार ही गया मैं उधर चूतियों के बीच... :(
जय जय भड़ास

1 टिप्पणियाँ:

Manoj dwivedi ने कहा…

ab congress ko koun SECULAR kahega????

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP