भड़ास की गांधीगिरी, बधाई संदेश के बाद नवी मुंबई दूरसंचार की नींद खुली।

बुधवार, 18 मार्च 2009

भड़ास का गांधीगिरी अभियान रंग लाया जब सोये हुए नवी मुंबई दूर संचार को नींद से जगायामालूम हो की भड़ास के माडरेटर और वरिष्ट ब्लोगर का इन्टरनेट हप्तों से बंद थाकार्यालय शिकायत और महाप्रबंधक से व्यक्तिगत भेंट के बाद भी विभाग का टालमटोल और लालफीताशाही रवैया से कार्य चालू होना अंजाम नही दे रहा था

विभाग की कार्य के प्रति इस शानदार निष्ठा के लिए भड़ास ने विभाग और विभागीय महाप्रबंधक को बधाई संदेश देने का आवाहन किया था जिसके तहत नवी मुंबई दूरसंचार और महाप्रबंधक को उनकी कार्य की निष्ठा के लिए दिए गए बधाई संदेश का तांता लग गया

अन्तोगत्वा भड़ास परिवार की मुहीम रंग लायी और सोया विभाग जगा

परिवार अपने सभी साथी को धन्यवाद देता है

जय जय भड़ास

4 टिप्पणियाँ:

Manoj dwivedi ने कहा…

babhai ho sir ji..ham age bhi aisi gandhigiri karte rahenge..apne liye bhi aur auron ke liye bhi..
jai bhadas jai jai bhadas

दीनबन्धु ने कहा…

रजनीश भाई वो जी.एम.तो हमारे अभियान से इतना दुःखी हो गया कि शर्म से पानी-पानी होकर गिलासों में भर गया। जैसे ही हममें से किसी का फोन पहुंचता विशेषतः मनीषा दीदी या भूमिका बहन का तो साला रोना शुरू कर देता लेकिन ये लोग भी उसे अपने खास अंदाज में बधाई दिये बिना फोन नहीं रखती थीं..... उम्मीद है कि दुबारा ऐसा होने पर किसी भी विभाग के अफ़सर को हम सब इसी तरह धंधे पर लगाने में कामयाब रहेंगे।
जय जय भड़ास

mark rai ने कहा…

rock on.. badhaai jhaa jee. ek baar aur gaandhigiri ka safal prayog..

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

jai jai bhaddaas ,
जय जय bhadas ,
जय जय bhadasi ,
जय जय ghandhigiri ,
जय जय जय इस manch की ,

जय हो .............

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP