क्या हम भारतीय हैं ?????

मंगलवार, 14 अप्रैल 2009

एक ई मेल से एक संदेश मिला जिनमे कुछ व्यंग और भारतीयता की कहानी कह गया। सो मैं ये संदेश आपसे बिना किसी सम्पादन के साझा करता हूँ। संदेश का हिन्दी में अनुवाद न करने के लिए माफ़ी !

AN AMERICAN VISITED INDIA AND WENT BACK TO AMERICA
WHERE HE MET HIS INDIAN FRIEND WHO ASKED HIM

HOW DID U FIND MY COUNTRY


THE AMERICAN SAID IT IS A GREAT COUNTRY
WITH SOLID ANCIENT HISTORY
AND IMMENSELY RICH WITH NATURAL RESOURCES.
THE INDIAN FRIEND THEN ASKED ….


HOW DID U FIND INDIANS …….??


INDIANS??
WHO INDIANS??
I DIDNT FIND OR MEET A SINGLE INDIAN
THERE IN INDIA…….


WHAT NONSENSE??
WHO ELSE CAN U MEET IN INDIA THEN……??


THE AMERICAN SAID ……॥


IN KASHMIR I MET A KASHMIRI–
IN PUNJAB A PANJABI—–


IN BIHAR,MAHARASTRA, RAJASTHAN, BENGAL,TAMILNADU
BIHARI,MARATHI, MARWADI, BENGALI,TAMILIAN, MALAYALI………


THEN I MET
A MUSLIM,
A HINDU
A CHRISTIAN,
A JAIN,
A BUDDHIST


AND MANY MANY MANY MORE
BUT NOT A SINGLE INDIAN DID I MEET


…………………………………………………………..
THINK HOW SERIOUS THIS JOKE IS……………..
THE DAY WOULD NOT BE FAR OFF WHEN INDEED WE WOULD
BECOME A COLLECTION OF NATION STATES AS SOME
REGIONAL ANTI-NATIONAL POLITICIANS WANT ...
FIGHT BACK -


ALWAYS SAY I AM INDIAN

JAI HIND

Think & Vote this time !

आगामी चुनाव में वोट जरुर करें।

जय हिंद

जय जय भड़ास

4 टिप्पणियाँ:

मनोज द्विवेदी ने कहा…

BEHATARIN PRERAK PRASANG HAI JO BHI PADHEGA VOTE JARUR DALEGA AUR AS A INDIA ONLY............

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

भाई भारत की जटिल सामाजिक रचना के चलते ये देश लोकतंत्र के लायक न होने की स्थिति में भी उस स्थिति में ठेल दिया गया और अब वह संवैधानिक समीकरण उलझ गये हैं। जाति धर्म भाषा पर ही वोट पड़ेंगे देख लीजियेगा और कोई राष्ट्रीय विचारधारा नहीं देखने में आएगी....
जय जय भड़ास

Shama ने कहा…

Behad kadvee sachhaee hai...
Kuchh arse pehle maine apne blogpe el lekh likha tha," Pyarkee Raah dikha duniyaako", jisme yahee sawaal uthaya tha...kya ham apne bachhon ko Bharteeyatv ke sanskar dete hain?
Tatpashchat, Mumbai me hue bamdhamakon samay likha,"Meree awaaz suno"...filhaal ye lekh mere "Lalitlekh" is blogpe maujood hain...

Behtareen sawal uthaneke liye abhinandan....hame aaj yahee sochna hai...ham aur hame mile sanskar/yaa jo sanskar ham de rahe hain...kahan chook rahe hain?

गुफरान सिद्दीकी ने कहा…

रजनीश भाई क्या कहूँ शब्द तलाशने पड़ रहे हैं ये आज हिंदुस्तान की सबसे बड़ी ज़रूरत है हमें ये हमेशा याद रखना होगा की हम हिन्दुस्तानी हैं.....लाजवाब वक़्त अब बदलेगा उसे बदलना होगा जब भड़ास के मंच से ये आवाज़ उठी है तो उसको कोई दबा नहीं सकता मेरा वादा है रजनीश भाई की आपकी आवाज़ इसी चुनाव में ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचने की कोशिश करूँगा ......
जय हिंद ............
आपका हमवतन भाई ...गुफरान...अवध पीपुल्स फोरम फैजाबाद.........

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP