खबरों की खबर-इशारों को समझो भाई...

मंगलवार, 14 अप्रैल 2009




"कोने में रोते रहे आडवाणी : मनमोहन"


वाह मनमोहन जी वाह... जय हो आपकी, अडवाणी के आंसू दिख गए, सवा अरब भारतीय भी रोज़ खून के आंसू खुले आम रोते हैं, ये तो कभी नहीं दिखाई दिया आपको




"उप्र में आपातकाल से ज्यादा ज्यादती: मुलायम"

नेता जी! आपने अपने कार्यकाल में जिस परंपरा की नींव रखी थी, बहन जी उसीको आगे बढा रही हैं...



"मोदी इतिहास पढ़ें: संजय खान"

इशारा समझो नरेन्द्र भाई, गुजरात में जय हनुमान और टीपू सुलतान धारावाहिक की सीडी की बिक्री बढ़वाओ।



"नेताओं की जुबानी जंग में आयोग का दखल"

त्रुटि के लिए क्षमा, सही खबर इस प्रकार है: "नेताओं की जुबानी जंग में आयोग का ज़ुबानी दखल "

4 टिप्पणियाँ:

मनोज द्विवेदी ने कहा…

BAHUT SAHI KHICHA APNE..KHICHIYE KHICHIYE YE JUBANI RASSI HAI TUTEGI NAHI...JAI BHADAS

Anurag TIwari ने कहा…

Jai Bhadas Manoj bhai, kya pata isi Jubani rassi se kisi ko akal aa jaye, bhai ham to mugalte me hi rahenge :)

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

अनुराग भाई ये मुग़ालता नहीं है बल्कि एक ऐसा स्वप्न है जो हमने आपने और सभी भड़ासियों ने खुली आंखों से न सिर्फ़ देखा है बल्कि उसे साकारने का हर संभव प्रयास भी कर रहे हैं आनलाइन के साथ आफ़लाइन भी....
जय जय भड़ास

Anurag TIwari ने कहा…

Ji Rupesh Bhai, bilkul sahi kaha aapne... mugalta shabd maine un logon ke liye istemall kiya jo yah sochte hain ki bhadasi diwa swapn dekh rahe hain.

Haan bhaiya ham dekh rahe hain diwa swapn aur Mugaalte me bhi hain aur is mugalte me jo bhadas nikal rahi hai uske bawandar se bach sako to bach lo....

Jai Bhadasi, Jai Bhadas

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP