कथाकार निरुपमा सेवती का निधन.

रविवार, 3 मई 2009

वरिष्ठ कथाकार और साहित्यकार सुश्री निरुपमा सेवती जी का शुक्रवार को मुम्बई में निधन हो गया। वो पिछले एक हप्ते से बीमार थीं। सारिका , निहारिका, कल्पना इत्यादि साहित्यिक पत्रिका की वो नियमित लेखिका थीं।


निरुपमा जी का निधन हिन्दी कथा लेखन में एक रिक्ती ले कर आया है।


भड़ास परिवार निरुपमा जी को श्रद्धांजलि अर्पित करता है और शोक की इस घड़ी में परिवार को संवेदना देता है।

2 टिप्पणियाँ:

mark rai ने कहा…

yah hindi saahity ke liye ek kshati hai......meri taraf se sewati ji ko shradhanjali...

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

ईश्वर निरुपमा जी के परिवार को धैर्य प्रदान करे भड़ास परिवार इस दुःख भरी घड़ी में ईश्वर से उन्हें इस दुःख को सहने की शक्ति देने की प्रार्थना करता है

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP