चलो स्वाइन फ़्लू एन्ज्वाय करें......

बुधवार, 12 अगस्त 2009

मैंने स्टेशन पर पिल्लै इंजीनियरिंग कालेज के तीन युवकों को ये कहते सुना तो बड़ा विचित्र लगा कि एक तरफ़ तो सारे देश की हवा तंग है और दूसरी तरफ़ ये नादान स्वाइन फ़्लू को एन्ज्वाय करने की बात कर रहे हैं। चूंकि मैं भी ट्रेन के इंतजार में था तो उन्हीं बालकों के पास खड़ा हो गया ताकि उनकी बातें सुन सकूं और जान सकूं कि ये दिलेर जानलेवा बीमारी के भय को कैसे एन्ज्वाय करने की बात कर रहे हैं। ट्रेन आयी तो लोग उतरे और उसमें से एक लड़की को देख कर तीनों शरारत भरी मुस्कान लिये उसकी तरफ बढ़े, एक ने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे लगबग डांटते हुए बोला, "काय ग... तू काय येड़ी-वेड़ी झालीस, काल ठाण्या ची गाड़ीत बसली होती.......।" तभी लड़की ने अपना हाथ छुड़ाया और हिंदी में बोली क्या मैं आपको जानती हूं? इतना कहते हुए उसने अपने चेहरे पर लगाया हुआ मास्क हटा दिया। इस पर तीनो शरारती लड़के नाटकीय अंदाज़ में माफ़ी मांगते हुए बोले कि सत्यानाश हो इस स्वाइन फ़्लू का... हमें लगा कि हमारी दोस्त आशा है। लड़की इन तीनो की शरारत समझ ही न पायी और कोई बात नहीं कह कर मुस्कराते हुए आगे बढ़ ली। ये तीनो फिर अगली गाड़ी के इंतजार में खड़े टाइम पास करने के लिये।
मुंबई में तो अधिकांश लोग रुमाल या मास्क लगा कर घूम रहे हैं जिसका ये दिलेर शरारती लड़के मजा ले रहे हैं, मुझसे ये कहते हुए कि अंकल एक दिन तो सबको मरना है तो क्यों न डर को भी एन्ज्वाय कर लिया जाए। पक्के भड़ासी हैं ये बालक जो मौत के डर का भी मजा ले रहे हैं और ऐसे मौके पर भी इन्हें शरारत सूझ रही है।
जय जय भड़ास

5 टिप्पणियाँ:

appaliwal ने कहा…

well said we indians are making a mockery of this disease

appaliwal ने कहा…

well said we indians are making a mockery of this disease

appaliwal ने कहा…

well said we indians are making a mockery of this disease

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

सच मच,
जीना इसी का नाम है,
जय जय भड़ास

मनोज द्विवेदी ने कहा…

AUR APKI PARKHI NAZAR INPAR PAD GAYI..JAI JAI BHADAS

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP