लोकसंघर्ष भड़ास के दिल से जुड़ा हुआ है

मंगलवार, 27 अक्तूबर 2009

आदरणीय सुमन भाई की भेजी हुई जनसामान्य के संघर्ष के प्रति समर्पित लोकसंघर्ष पत्रिका प्राप्त हुई। छपाई से लेकर आलेख संयोजन तक सभी कुछ बेहतरीन है। आवरण पर छपा व्यंगचित्र तो तमाचा मार कर सत्य बताता हुआ है लेकिन ढीठ लोग इन तमाचों से आंखे खोल कर देखते तक नहीं, इनकी आंखे खोलने के लिये तमाचे बेकार हो गये हैं इनकी तो पलकें ही चीर देनी पड़ेंगी तभी आम जन की व्यथा देख सकेंगे ये कुम्भकर्ण के सगे संबंधी। लोकसंघर्ष की पूरी टीम बेहद सुगठित है। चाहुंगा कि इस जनाआंदोलन की चिन्गारियां सारे देश में फैलें, महाराष्ट्र में लाने के योग्य यदि आप समझें तो मैं सिर झुका कर समर्पित हूं।

लोकसंघर्ष चिट्ठे का पता प्रमादवश गलत हो गया था इसके लिये क्षमा करियेगा, गलती सुधार दी गयी है। अब चूहे से आपके चित्र पर कटवाने(माउस क्लिक करने) से वो आपको सही जगह तक ले जा रहा है।
जय लोकसंघर्ष
जय जय भड़ास

3 टिप्पणियाँ:

दीनबन्धु ने कहा…

भाई सारे भड़ासी आजकल क्या कर रहे हैं मैं तो गांव गया था आकर देखता हूं कि लोगों ने लिखना और टिपियाना एकदम ही कम कर दिया है। भड़ास की पहचान त्वरित प्रतिक्रिया से है ये आप सब जान लीजिये(मेरी जान मत लीजिये)। सुमन भाईसाहब ने जिस तरह लोकसंघर्ष को आकार दिया है वह काबिले तारीफ़ है।
जय जय भड़ास

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

हम सब साथ हैं अलग कहां है
लोकसंघर्ष पत्रिका सचमुच विचारोत्तेजक है
डा.साहब का माउस से क्लिक करने के लिये चूहे से कटवाना मजेदार लगा।
दीनबंधु भाई सबकी व्यस्तताएं हैं लेकिन जब उल्टी होनी होती है तो उसे रोका नहीं जा सकता है, भड़ास निकलती ही है। टिप्पणियां देने वाले लोग आजकल थोड़ा व्यस्त हैं शायद...
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

भाई सुमन को अनेकानेक बधाई,
वाकई में लोकसंघर्ष और भड़ास एक मुहीम है.
रंग तो लाएगी ही बस साथ मिल कर जाय घोष करते रहिये.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP