मन के रहस्यों से पर्दा हटाता "ब्रेन गैरेज"

रविवार, 20 दिसंबर 2009

  • "ब्रेन गैरेज" आपको सपने पूरे करने लायक बनाता है
  • मानव मस्तिष्क यानि इंसानी दिमाग़ एक जटिल जैव रासायनिक विद्युतीय परिपथ( Bio-chemical electrical circuit) है।
  • सारा ब्रह्माण्ड(Universe), समय का आयाम(Time Dimension) यानि भूत-भविष्य-वर्तमान काल व घटनाएं(events) इस परिपथ से परोक्ष-अपरोक्ष रूप से जुड़ी हैं और ये एक दूसरे को प्रभावित करने की सामर्थ्य रखते हैं।
  • यदि इस सर्किट को समझ लिया जाए और अपने अनुकूल कर लिया जाए तो हम अपने कर्म और उसके फल को नियंत्रित कर सकते हैं, स्वप्नों को आसानी से पूरा कर सकते हैं।
  • शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य का सीधा संबंध इसी सर्किट से होता है इस कारण कठिन और असाध्य कहे जाने वाले रोगों पर भी विजय प्राप्त करी जा सकती है।
  • जिस प्रकार पुराने कम्प्यूटर को अपग्रेड(Upgrade) करा जा सकता है उसी प्रकार मानव मस्तिष्क की क्षमताओं को भी असीमित विस्तार दिया जा सकता है।
  • चमत्कारिक और आश्चर्यजनक प्रतीत होने वाली याददाश्त पायी जा सकती है।
  • जो सोच लिया जाए उसे सच करा जा सकता है।
  • निर्धारित उद्देश्यों को सहजता से प्राप्त करा जा सकता है जैसे नौकरी,परीक्षा आदि में उच्च कोटि की सफलता।
  • संबंधियों, सहकर्मियों आदि में स्थायी लोकप्रियता की सरलता से प्राप्ति।
  • बंद होते या लड़खड़ाते व्यापार को तत्काल दोबारा खड़ा करा जा सकता है।
  • व्यक्त्तित्व में महसूस होने वाली किसी भी कमी को सहजता से पूरा कर एक सम्पूर्ण भव्य व्यक्तित्व प्राप्त करना।
  • यह सभी करा जा सकता है इंसानी दिमाग़ को समझ कर कार्य करने वाले जानकारों के निर्देशन के अनुसार करे गये कुछ साधारण से प्रतीत होने वाले मानसिक व्यायामों(Exercises) के द्वारा, जिनके परिणाम असाधारण व आश्चर्यजनक होते हैं।
यदि आप इन बातों को आजमाना चाहते हैं तो आजमा लीजिये इस फोन नंबर पर संपर्क करके जो कि मात्र फोन के द्वारा दिये गये निर्देशों से ही आपको स्वस्थ कर सकते हैं या आपके बच्चे के पढ़ाई के स्तर को अचंभित कर देने वाले स्तर तक ऊंचा कर सकते हैं। यदि आपको लाभ न हो तो बिना किसी पूछतांछ या शर्त के आपसे लिये शुल्क को वापिस कर दिया जाता है यानि कि आप फ़ायदा होने के बाद झूठ भी बोल दें कि हमें कोई लाभ नहीं हुआ तो आपका शुल्क आपको तत्काल वापिस कर दिया जाता है ये भी एक आश्चर्यजनक बात है आजकल के बाजारू वातावरण में। इस कार्य को करने वाले व्यक्ति का कोई दावा नहीं है उनका कहना है कि जो आजमाना चाहे आजमा ले स्वयं ही सत्य का पता चल जाएगा।

3 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

सुन्दर और समझ में आने वाली बात है क्या ये बातें खराब हुए दिमागी सर्किट के भड़ासियों पर भी लागू होंगी इस बात की आजमाइश जरूरी है
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

बहुत बढ़िया जानकारी भाई,
आपको धन्यवाद
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP