सुमन जी को हिन्दी लिखना सिखा कर ही दम लूंगा

शुक्रवार, 4 दिसंबर 2009

हमारे प्रिय और आदरणीय भाई रणधीर सिंह सुमन जी अपनी बात में बुखार में दी जाने वाली एक दवा के अलावा ज्यादा कुछ नहीं लिखते इस लिए मेरे पुराने भड़ासियों ने कहा की जब आप रक्षंदा रिज़वी को ब्लागिंग में हिन्दी लिखना सिखा सकते हैं तो सुमन जी को क्यों नही?
अब बात ये है कि लोग भाई सुमन जी की टिप्पणी पर चुटकी लेते हैं कि वकील साहब अभी पोस्ट लिखने वाले को बुखार की दवा नाइस (निमैसुलाइड बेस्ड बुखार की दवा) की खुराक जल्द ही देंगे। प्यारे है सारे भड़ासी इसी तरह एक दूसरे से धक्का-मुक्की करते, चुटकियाते अपने अपने रोज़मर्रा के गमों को भुलाए रहते हैं। लीजिये भाई के लिये एक कोमलधारक(सौफ़्टवेयर) दे रहा हूं जिससे कि कई भारतीय भाषाओं में लिखा जा सकता है और सबसे बड़ी बात है कि इसमें मामला फोनेटिक है यानि से और बी से टाइप होगा
आप इस जगह पर माउस से क्लिक करिये और बस तैयार है आपका कम्प्यूटर हिन्दी के लिये
यहां से बरहा-२.० यूनिकोड उठा लीजिये
इसमें अगर कोई समस्या हो तो बताइये तत्काल हल कर दी जाएगी

जय जय भड़ास

4 टिप्पणियाँ:

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

शानदार है गुरु देव,
सुमन भाई से nice दवाई खा खा कर हम तो सही में उकता चुके, अब तो सुसरी बुखार कभी ना आएगी और ज्यों आयी तो सुमन भाई का nice
जय जय भडास

Suman ने कहा…

bhai rajneesh ji ,
namastey
dr.sahab budha tota ko ram ram kehna sikhana chahte hain kya aap isse sahmat hain . nice likhne ka karan hai vah karan yah hai ki ham kisi bhi blog ko kholte hain aur unke post ko padhte hain to apni upastithi ka pramaan k roop mein nice likh dete hain . nice ka matlab mera accha se hota hai. mere kandhe mein pacemaker laga hua hai keyboard par hath chalane par dikkat deta hai anytha main svayam hindi mein type sikh kar karta meri iccha hai ki koi aadmi tamil, telgu malyalam ya kannad mein se ek bhasha sikha de main sikhne k liye shishy ki bhanti sikhne ko taiyaar hoon .


sadar
suman
loksangharsha.blogspot.com

मुनव्वर सुल्ताना ने कहा…

आदरणीय भाईसाहब आपके अस्वास्थ्य के प्रति हम सभी भड़ासी फिक्रमंद रहते हैं। पिछली बार जब आपको दिल का दौरा पड़ा था तो डा.साहब ने तत्काल आपके स्वास्थ्य की फोन से पूछतांछ करी। आप यकीन मानिये कि डा.रूपेश श्रीवास्तव एक अच्छॆ इंसान और एक बेहद विद्वान चिकित्सक हैं उनके कारण मुझे पिछले पांच साल से कभी बाहरी चिकित्सा का सहारा नहीं लेना पड़ा वरना पहले तो हर दूसरे महीने हाई बी.पी. के कारण अस्पताल की शरण में रहना पड़ता था। आप सदैव स्वस्थ रहें ईश्वर से यही प्रार्थना है। लिखने के लिये हम अधिकांश लोग यही साफ़्टवेयर इस्तेमाल करते हैं इससे आप कन्नड़,तमिल,तेलुगू,गुजराती,पंजाबी और बंगाली लिपि में भी लिख सकते हैं देखिये नमूना
ಜಯ್ ಜಯ್ ಭಡ಼್ಆಸ್
ஜய் ஜய் படாச்
జయ్ జయ్ భడాస్
ജയ് ജയ് ഭഡാസ്
જય જય ભડ઼્આસ
ਜਯ ਜਯ ਭਡ਼੍ਆਸ
জয জয ভড়াস
ଜଯ ଜଯ ଭଡ଼ାସ
जय जय भड़ास

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

बड़े भैया,
अगर मेरे टिपियाने से आप आहात हैं तो हम तहे दिल से क्षमाप्रार्थी हैं, मेरी भावना आपके स्वास्थ्य से इतर नहीं, आपके लेखनी और विचार वैसे ही समाज के लिए जागृति है, हम तो बस डाक्टर साहब के प्रयास कि सराहना करते हैं, कोई भी असुविधा या समस्या आये तो छोटे भाई को कभी भी याद कर सकते हैं.

9899730304

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP