आदरणीय रणधीर सिंह सुमन जी,ये क्या कर दिया आपने???

शुक्रवार, 25 जून 2010

पिछले कुछ समय से राक्षसों द्वारा मचाए जा रहे सूखे के तांडव पर इनके मुनियों के मरने से बारिश पर लगा जो बंध खुला है तो आप सबने देखा कि राजस्थान में बाढ़ आ गयी इतना पानी बरसा। क्या इससे सिद्ध नहीं हो रहा कि इन दुष्टों ने अब तक उस क्षेत्र में बारिश पर बंध लगा रखा था जो कि अब धीरे धीरे एक निश्चित कुदरती नियम में लागू हो जाएगा कि वहां निर्धारित वर्षा होगी। हम सारे लोग अपने अपने घरों की तरफ गये हुए थे तो वहां इंटरनेट नहीं देख सके। यहां आने पर देखा कि संजय कटारनवरे नाम का व्यक्ति तर्कों की कर रहा है। इसका कोई अता पता नहीं है अवतार स्वरूपी डा.रूपेश श्रीवास्तव जी से पहले कहता है कि भड़ास की सदस्यता दीजिये ताकि सीधा लिख सके और जब उन्होंने बात करने को कहा अपना फोन नंबर देकर तो लोकतंत्र में गोपनीयता के अधिकार की बात करके किनारा कर गया। ये चाहता ही नहीं है कि इसकी असलियत सामने आए।
लेकिन हार्दिक दुःख है इस बात का कि आदरणीय रणधीर सिंह सुमन साहब जो कि अपना विचार रखने की प्रेरणा देते थे वे खुद ही एक विरोधी के पैदा हो जाने से भड़ास का मंच छोड़ कर चले गये। सहमति असहमति तो लगी ही रहती है इसका अर्थ ये नहीं कि हम अपनी बात और विचार को व्यक्त करना बंद कर दें। हम जिस तरह राक्षसों और उनकी मानवता विरोधी प्रवृत्तियों के विरोध में संघर्ष कर रहे हैं तो हमारा भी बहुत विरोध करने वाले हैं लेकिन हम भड़ास के मंच को हरगिज न छोड़ेंगे। आपसे आशा है कि आप दो चार लोगों के विरोध को सह कर भी अपनी बात रखते रहेंगे।
जय नकलंक देव
जय लोकसंघर्ष
जय जय भड़ास

3 टिप्पणियाँ:

फ़रहीन नाज़ ने कहा…

सुमन सर मैं इनकी बात से सहमत हूं कि आपको अपना पक्ष रखते हुए मंच नहीं छोड़ना चाहिये इससे तो ये सिद्ध होता है कि आप कमजोर पड़ गये यानि कि लोकसंघर्ष कमजोर पड़ गया।
जय जय भड़ास

हिज(ड़ा) हाईनेस मनीषा ने कहा…

कहां थे आप जमाने के बाद आए हैं....
मेरे शवाब के जाने के बाद आए हैं........
:)

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

आपने सही कहा है कि विरोध से बचने के लिये मंच छोड़ देना उचित नहीं है
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP