बाल ठाकरे तू कर नाटक, नाटक का नाम कर्नाटक

गुरुवार, 15 जुलाई 2010

बलुआ और रजुआ ठाकरे फिर से क्षेत्रवाद की भुर्जी और भाखरी खाने के चक्कर में भैरा गए हैं। राज्यों के गठन को लेकर जो ठनाठन चल रही है आजादी के बाद से अब तक न रुकी है। सीमावर्ती शहर हमेशा विवाद में ही रहे हैं। कर्नाटक में जो मराठी और कन्नड़ लोगों के बीच जूतम पैजार नेताओं ने करवा दी है उसे ठाकरे एंड कम्पनी मुंबई में भुनाने के लिये फड़फड़ा रही है। बुड्ढे ने कहा है कि मुंबई में भी कन्नड़ लोग हैं, हमारे पास भी पत्थर हैं, हमारे पास भी कलाईयां हैं। इस हड्डियों के ढांचे से कोई पूछे कि क्या तुझमें इतनी ताकत है कि एक कंकड़ भी उठा कर मार सके किसी को? जब शहरों को केन्द्रशासित कर दिया जाएगा तो केन्द्र सरकार को डंडा करेंगे कि सरकार जो केन्द्र में है वह निकम्मी है क्योंकि सोनिया उसकी मम्मी है। इन चिरकुटों को सिवाय जनता में वैमनस्य फैलाने के और कुछ नहीं आता। इन लोगों ने महाराष्ट्र की सबसे ज्यादा बजाई है।
जय जय भड़ास

15 टिप्पणियाँ:

DEEPAK BABA ने कहा…

"सरकार जो केन्द्र में है वह निकम्मी है क्योंकि सोनिया उसकी मम्मी है"
रुपेश जी, सलोगन अच्छा दिया है , पहले देते भारत बंद में काम आता

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

बहुत खूब,
एकदम सॉलिड भड़ास मारा है गुरुदेव.
जय जय भड़ास

شمس शम्स Shams ने कहा…

हा हा हा
ठाकरे को क्या क्या लिख डाला भाईसाहब
अगर उसने पढ़ लिया तो हार्ट अटैक से ही मर जाएगा बेचारा
जय जय भड़ास

sunil bhumkar ने कहा…

अरे भडासी ब्रुर्जी पाव खाने के तो तुम सब भैयांके वांदे है ,,,,
ये मुंबई तो हमारे बाप जागीर है ,,,
तू सब ब्भैया सेल मुंबई के गली के कुत्ते है तुम लोगोंको तो गोली मर देनी चाहिए ,,,
तू क्या जनता है कर्णाटक के बारे में ,,?
अपने बाप को बुढा कहते हुए शर्म नहीं आती ,,?
तू क्या जानो बाप क्या होता है ?
तुम रहते यहाँ मुंबई में हो और
तुम्हारे बच्चे पैदा होते है यूपी में,,,
और बलासहबा की कलायियोमे की ताकद
तेरी ,,,,,,भेज हरामी ,,,समज जायेगा
जीस थाली में खाते हो इसीमे मुतने की कोशिश मत कर ,,

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

sunil bhumkar जी पहली बात तो हम भड़ासी कभी नहीं कहते कि मुंबई हमारे बाप की जागीर है बल्कि हम तो पूरे देश को अपना मानते हैं। क्या आपमें साहस है किसी भइया को गोली मार देने की?पिस्तौल देखी है कभी हाथ में लेकर या बस फिल्मो में ही देखी है??बाप क्या होता है मां क्या होती है हम जानते हैं तुम जैसे चूतियों की तरह मध्यप्रदेश से आए किसी को अपना बाप नहीं बना लेते। बाल ठाकरे की कलाइयो की ताकत तब कहां चूडियां पहने थी जब मुंबई पर कसाब ने हमला करा था भइया कमांडो न आते तो तुम जैसे संडास में ही सो रहे होते डर के मारे।
जय जय भड़ास

sunil bhumkar ने कहा…

यूपी का बनाया संडास बनाया
वहा रहने लायक नहीं हो इसीलिए तो
यहाँ आते तुम भैया लोग
और रही बात बाला साहब की कयलिओयो की
तो शुकर समजो यहाँ हमारे महारष्ट्र में रहा रहे हो
इसिलए बचे हो भैया कमांडो ही आया था न?
यूपी मंत्री तो नहीं था ?

Omkar ने कहा…

आप भारत में रहते हो आपको बोलने का पुरा अधीकार है

पर आप दुसरोंके दामन पर किचड उछालनेसे पहले एक बार अपने दामन पर जरुर झांक कर देख लिजीये..... जितनी आपकी उम्र नही होगी उतना तजुर्बा है... हम मराठी लोग कभी ये नही कहते के आप यहांसे निकल जाओ बस... हर एक चिज की लिमीट होती है.... आज मुंबईमें जितनी मराठी लोगोंकी आबादी है... उतनी गुजराती है पर वो बोली से भले ना हो मगर दिलोंसे आज भी मराठा है.... आपकी आदतो को सुधारने का प्रयास करें अगर कुछ लिखना है तो पहलें आपके नेताओंके बारेंमे लिखीये..... अगर आपके नेतांओंने आपकें राज्योंमें रोजगार तैयार किया होता तो.. क्या जरुरत पडती आपकों मुंबईमें आनेंकी..... ये सोचो....
मुंबई के हमलेकें बारेमें बोल रहे हो तो जरा वो लिस्ट निकालकें देख लेना की कौन शहीद हुआ है तुम हमेशा क्रेडीट लेने की फिराक में रहते हो.... लेकीन सालों ये हमला खाली मुंबईपर नही था अंदर हॉटेलमें फसा हुआ हर आदमी मराठी नही था पर तुम ऐसी चु... गीरी करते रहोगे... तुम्हारें यहा तो कभी नही हुआ ना ऐसा और होगा भी क्यु? रख्खा क्या है तुम चुतीयाओंने बाकी

sandip ने कहा…

Rupesh
i know mumbai kisi baap ki nahi but dont forgey its not own by ur fateher also.
However i want to bring the notice in your consideration this is a social networking site & u dont have sense & culture what to talk on this site
Dont forget he is a tiger & u all are barking dog. if you have guts then stand in mumbai or maharashtra & use same sentence about bala saheb thackrey then we will show our style. we are not like you all people. itna hi confidence haina to khudke ghar mein khana khao dusre ke ghar me bheek mat mango
thats what ur status & u deserve this.
jab mumbai mein kasab ne hamala kiya tabhi tum log darke ghar mein the that time hamara marathi police fight with them not even single bahyya get involve in this fight
so we always say proudly we are a marathi not bhayya

sandip ने कहा…

तूम सब कायर हो. दम हे तो रसते पे आओ
tumhara culture aur tum log third class ho.
so we are proudly saying aamhi marathi not like you dirty bhayya
jab mumbai mein kasab ne halla kiya tabhi hamara marathi police fight kiya ek bhi bhaya nahi mara beacuse we are a tiger & you are a barking dog

बेनामी ने कहा…

तूम सब कायर हो. दम हे तो रसते पे आओ
tumhara culture aur tum log third class ho.
so we are proudly saying aamhi marathi not like you dirty bhayya
jab mumbai mein kasab ne halla kiya tabhi hamara marathi police fight kiya ek bhi bhaya nahi mara beacuse we are a tiger & you are a barking dog

बेनामी ने कहा…

hahaha ghanta bloggers sala aukad ke bahar gaya tu apne laude.... bhaiyya tumlog ki sab mumbai me baja rahe hai isliye fat rahi hai jo idhar G....masti kar rahe ho??? tumlog ki aukad sirf raai ka tel lagane ki hai... kabhi sudhroge nahi tumlog

ज़ैनब शेख ने कहा…

Dear Omkar,Sandip and sunil bhumkar you people really do not know about Dr.Rupesh Shrivastava. He is also a maharashtrian and his birth place is the city of Maharani Laxmibai's Jhansi.One more thing to tell that since last 25 years he is in Mumbai.Show your power and do what you can, you are angry because his thoughts are not in favour of you.Who is your roll model?sharad pawar??Raj thakrey??Vilasrao deshmukh???Who is tiger and who is dog just clear it with your original profile.just not only make comments,write a post and mail it to this address-
bharhaas.bhadas@blogger.com
it will be published after approval.

jay jay bhadhas

Mumbaikar ने कहा…

Dear All,

I received this link through one of my frind. Bhadhas enters into our mind when we are not open minded or when we don't open our heart to someone close.

Whatever going on in this discussion is not healthy.

People like Dr. Rupesh should not pass any comments like this which will create confrontation. I regret to mention that whatever he has started is not a sign of literate person. Unfortunately today we have to teach culture to literate person like Dr. Rupesh. If you mention his address, people may launch a litigation against him and your blog. Please take care.

Confrontation is welcome when it is healthy for society.

Regards,
Mumbaikar

Suresh - सुरेश शिरोडकर ने कहा…

Whatever going on in this discussion is not healthy for society.

I am sorry to say, people like Dr. Rupesh should not pass the comments like this which is not a sign of literate person.

P. Dindorkar ने कहा…

मी सगळ्यांचे विचार पाहिले, इथे ब्लॉग वर चर्चा करण्या पेक्षा सरकार आपणच मतदान करून निवडून दिले आहे, तेव्हा काही तरी कृती करुया अथवा आपापले नोकरी व्यवसाय सांभाळूया कारण निव्वळ बडबडीने कोणतीही चळवळ चालत नाही....||जय जय रघुवीर समर्थ||

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP