रजनीश झा साहब परेशान हो गए और हंसी आना बंद हो गयी?

बुधवार, 23 नवंबर 2011

रजनीश झा साहब परेशान हो गए और हंसी आना बंद हो गयी? कम से कम इतनी हिम्मत तो जुटा पाते की खुल कर कह सकते की हाँ मैं बुरा आदमी हूँ क्योंकि मैं भड़ासी हूँ नंगी लड़कियों की फोटो लगा कर पैसे कमाऊंगा किसी के बाप का क्या जा रहा है लेकिन आप तो मुंह छिपा कर कमेन्ट कर रहे हैं छद्म नाम से लिखिए लेकिन भड़ास के उस स्तर को कीचड में मत डालिए जिसकी चिंता आपको किलर झपाटा बन कर हो रही थी अमित जैन से दिल्ली में रह कर हाथ मिलाना ही है तो इसमें भी बुरे नहीं आप चाहें तो यशवंत सिंह से भी हाथ मिला लीजिये नंगी लड़कियों से कमाए हुए पैसे को हाथ में लेकर अपने उस बेटे की ओर जरूर देखना jise आप माता-पिता का सम्मान करने के संस्कार देना चाहते हैं, हनु नाम है न उसका?
जय जय भड़ास

4 टिप्पणियाँ:

मै क्या हु और क्या कर रहा हु इस से तुझे क्या मतलब ने कहा…

शम्स जा और अपने घर को देख ,

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

अबे चूतियम सल्फ़ेट से भरी हड्डियों वाले कीड़े ! शम्स भाई ने यहाँ भाई रजनीश झा के लिये लिखा है तू क्यों फड़फड़ा रहा है? जब उनके पास समय होगा तो वो जवाब देंगे अपनी शैली में उन्हें तेरे जैसे चूतियों की वकालत की जरूरत नहीं है ढक्कन...
जय जय भड़ास

लो जी अब कोई पोस्ट सिर्फ किसी एक के लिए रिजर्व हो गई , भडास की गांड फट ही गई ने कहा…

क्यों रप्पू भडवे तेरी क्यों फट रही है ,मैंने तो शम्स के लिए लिखा था , वो ही जवाब देता , उसे तेरे जैसे चुतियम सल्फेट और गांडम परमेगनेट के combination की जरुरत कब से आन पड़ी है ...:)

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

मित्र,
रजनीश कभी क्षद्म नाम में नहीं जाता है.
शंका ना करें.
यहाँ भड़ास कि आत्मा बसती है.
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP