राक्षस हरसंभव कोशिश में हैं कि डॉ.रूपेश श्रीवास्तव जी की माँ की हत्या का रहस्य न खुले

शुक्रवार, 17 दिसंबर 2010

जब से अनूप मंडल ने हमारे अवतार स्वरूप परम आदरणीय भड़ास के संचालक डॉ.रूपेश श्रीवास्तव जी की माताजी की तंत्र-मंत्र द्वारा करी रहस्यमय हत्या का रहस्य खोलना शुरू करा तबसे सारे राक्षसों के कान खड़े हो गये। अब राक्षसों की कोशिश है कि वे किसी भी तरह से इ प्रकरण को भटका कर दबा दें और लोग इसे भूल जाएं इसके लिये भड़ास पर ही सक्रिय एक राक्षस कैसे कैसे प्रयास कर रहा है ये हम आप सबके सामने ला रहे हैं। जरा गौर से देखें कभी ये "ताऊ" नाम के ब्लॉगर के नाम से कमेंट कर के भाई दीनबंधु जी को भ्रमित करने की कोशिश करता है और कभी संचालक जी को भ्रमित करने की नाकामयाब कोशिश कर रहा है। राक्षसों तुम पहचाने जा चुके हो अब तुम्हारी खैर नहीं।
जय भड़ास
जय जय भड़ास

3 टिप्पणियाँ:

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

बे ढक्कन मैंने खबर के नीचे खबर का स्रोत्र भी दिया है , जा वह जा कर मुह मार कर आ ,

ताऊ ने कहा…

अबे बावली पूछ अनूप ,तू तो घना ही पगला गया है ,अबे लिख मै रहा हू ,और तू पड़ा है अमित के पीछे ,अबे क्या इस दुनिया में एक ही ताऊ है , पर एक बात तो बता दे माहरे को की तेरा क्या बिल्ली कुत्ते का बैर है अमित घाल ,या सारे जैनो से है /मैंने तेरी ब्लॉग को देखा है , वह तो कुछ है ना ,बुच कुछ पागल पण सा लाग रहा था ,

रजनीश के झा (Rajneesh K Jha) ने कहा…

ह्म्म्मम्म
मामला गंभीर लग रहा है. वैसे ताऊ बेनामी हो कर कैसे राय दे रहे हैं?
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP