प्रवीण शाह जी और अमित जैन जी, भड़ास इससे ज्यादा दिन शांत नहीं रह सकता

शुक्रवार, 27 मई 2011

आप दोनो को पर्याप्त प्रतीत होता है या नहीं लेकिन मई 21, 2011 की प्रवीण शाह जी के लेख के बाद आपको टिप्पणियों द्वारा संचालकों के ऊपर जो आरोप लगाए गए उस विषय पर अपना पक्ष रखने का समय दिया गया लेकिन आप दोनो ने कोई प्रतिक्रिया नहीं करी। अब इस चुप्पी को जब अनूप मंडल, संजय कटारनवरे या शम्स तबरेज़ आदि जैसे लोग तुड़वाएं तब ही आप लोग जवाब देंगे या चुप्पी इज़ द बेस्ट पालिसी ही अपनाना बेहतर तर्क है। प्रवीण शाह जी आपने ने सिर्फ़ संचालकों पर हेराफ़ेरी करने का आरोप लगाया बल्कि भड़ास की लोकतान्त्रिक संचालन शैली पर भी गम्भीर आरोप लगाया कि भड़ास पर सिर्फ़ अनूप मंडल का कब्जा है। अमित जैन के अनुसार यही बात है कि अनूप मंडल भी तीसरा संचालक है। प्रवीण शाह के अनुसार वे कहते हैं कि दो पोस्ट्स गायब हो गयी(या कर दी गयीं) जिसके बाद मैंने जो कमेंट दिया उसकी बड़ी ही धूर्तता से लिंक देते हुए आप लिखते हैं कि मैंने अपने कमेंट में स्वीकारा है कि दो पोस्ट गायब हुई है जबकि तुरंत उस भ्रम से पर्दा हटा दिया गया कि मैंने क्या कमेंट करा था और आपकी क्या कुटिलता है। अमित जैन ने संजय कटारनवरे की माताजी के बारे में अनर्गल लिखने पर जब मैंने आपत्ति करी और उन्होंने अपनी पत्नी(जो कि हम सभी भड़ासियों के लिये समान रूप से आदरणीय हैं) को सामने लाकर अनूप मंडल पर यह आरोप लगाया कि उन लोगों ने अमित की पत्नी के बारे में बुरी बात लिखी हैं तो आप तुरंत आ जाते हैं कि सही जगह पर सही चोट करी लेकिन आप ये भूल गये या भ्रम में है कि भड़ासी कुछ नहीं भूलते न ही किसी को छोड़ते हैं। अमित जैन जी मेरे संयम की प्रशंसा करते हुए कमेंट कर रहे हैं लेकिन अब तक उन्होंने कोई चुटकुला या कार्टून इस विषय पर नहीं प्रकाशित करा कि उन्होंने या प्रवीण शाह ने क्या करा है। अमित जी अपनी गलती मान लेना ही पर्याप्त नहीं है बल्कि जरूरी है कि उसे सुधारा भी जाए। आपको जब जब ये कहा गया कि आप संजय कटारनवरे से माफ़ीनामा ई-मेल के द्वारा पोस्ट करें तो आपने और प्रवीण शाह ने इसको इधर-उधर की बातों में टाल दिया क्योंकि आप उसमें फिर कभी संपादन करके हेराफ़ेरी नहीं कर पाएंगे। आप दोनो जब तक मेरी बातों का उत्तर नहीं देते तब तक आपका लिखा हुआ मेरे इन सवालों के नीचे ही प्रकाशित करा जाएगा। अब आपको सचमुच ये एहसास कराना आवश्यक प्रतीत हो रहा है कि आप दोनो जान लें कि संचालक अपने अधिकारों का उपयोग कैसे कर सकते हैं। प्रतीक्षा में.....
जय जय भड़ास

0 टिप्पणियाँ:

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP