अचानक ४ लोगो को रुलाने वाला संजय खुद रोने लगता है ,साथ मेअनूप मंडल को साँस जब आई जब डॉ साहब उन के पक्ष मे बोले , अब ये अचानक मेरे माफ़ी मागने की बात कहा से आ गई ,जब की मैंने माफ़ी की तो कोई बात ही नहीं की ,अगर तुम गलत हो तो , उस बात को घुमा कर सही बता दो ,अगर १० लोग मिल कर किसी गलत बात को सही कहे तो वो सही नहीं हो जाती

सोमवार, 9 मई 2011

भाई मुनेंदर सोनी , अमित को आप की किरपा से अभी कोई बैशाखी की जरुरत नहीं है , रही कुमारी शालू , सुरेंदर शर्मा या और भी कोई तो मै इन मे से किसी को व्यक्तिगत रूप से नहीं जानता , लकिन इतना जनता हू की जब भी अनूप मंडल ने जैनो के विरुद्ध लिखा है वो बे सर पैर की बात ले कर आप  ,और आप जैसे कई लोग सिर्फ उस की चुस्की ही लेते रहे आज जब  संजय के साथ  व्यंग किया गया तो सभी को बुरा लग गया ,

जब संजय ने शालू को लोंडिया कह कर संबोधित किया तो  डॉ साहब  आ गये की शायद संजय भिंड , मुरैना ,ग्वालियर की तरफ घूम के आये है जहा लडके और लड़की को लोंडा और लोंडिया कहते है , और बात को गोल कर गये

अब मै कहता हू की आप जरा मेरठ,सहारनपुर ,वाली बेल्ट पर निकलो तो आप को पता चलेगा वहा  ठेठ गाव मे जब कोई नालायक  बच्चा मिलता है तो उस से यही कहाजाता है की तेरे बाप का क्या नाम है ,तेरी माँ से पूछना पड़ेगा
अब इस बात को ले कर क्यों भड़क रहे हो
आप लोग जो कहे क्या दुनिया मे वो ही सही होता है ?
क्या दुनिया आप के बनाए नियमों से ही चलेगी ,
अब तक इस ब्लॉग पर कोई भी बाहर का व्यक्ति २-४ टीप्पिनी कर के क्यों वापिस नहीं आता ,
अब मै वहा मेरठ घूम कर आया था तो मैंने लिख दिया ,अब क्यों परेशान हो रहे है , क्यों कोई माफ़ी मागी जाये ?
खेद मान लिया गया है
आगे ये करो वो करो ,
भाड मे जाओ सब ,
मै न गलत हू न गलत मानता हू , पहले जिस व्यंगात्मक लहजे मे अनूप मंडल ने कहा था , वो उस के लिए माफ़ी मागे , फिर आगे की माफ़ी पर विचार होगा ,
मुनेंदर सोनी ,अगर मुझे कुछ कहना है तो मै खुद कहता हू न की आप की तरह एक दूसरे की होसला अफजाई करता हू
क्यों १०० सदस्यों वाली भडास पर सिर्फ गिने चुने ८-१०  लोग ही अपनी राय रखते है ?,
क्या आप ८-१० लोगो की राय को भड़ास की राय मन ली जाये ?रही बात अनूप  मंडल की तो क्यों उन के लोग जो ३००० की संक्या मै है अपना परिचय भडास पर देते , क्यों अनूप का mukhota  लगा कर सिर्फ जैन के विरुद्ध विष वामन करते रहते हो ?
@  कुमारी(?) शालू जैन 
अब  मुनेंदर शोणि जी आप को क्या शालू जैन कुमारी है या नहीं है इस बात पर शकहै और आप को चेक करना है ?
खुद के मन मे इतने घ्रणित विचार है और बात करते हो दूसरे की
जाओ पहले अपनी मानसिकता को सही करो फिर समाज की चिंता करना .तुम जैसे लोग किसी को माफ करने के लायक तो बन जाओ फिर माफ़ी की बात करना
और mr संजय  अब तक तो बड़े गर्व से बोल रहे थे की मैंने ४ लोगो रुला कर भगा दिया
 तो अब की बार क्या हुआ की सांस भी  नहीं ली ,और जरा से व्यंग से इतना विचलित हो गये ,अब की बार जरा मेरठजाना और लोंडिया के साथ ये भी सीख कर आना

1 टिप्पणियाँ:

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

अमित जी अपने उस प्रोफ़ाइल चित्र को प्रकाशित करिये ताकि सबको पता चल सके कि क्या अनूप मंडल के लोगों ने आपके ऊपर जो टिप्पणी करी थी वह आपकी पत्नी के लिये किस हद तक अपमान जनक है?
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP