अमित जैन, हमारा विरोध धार्मिक विरोध नहीं है वो तो सत्यान्वेषण है।

शनिवार, 6 अगस्त 2011

अमित जैन ने अपनी करतूतों(निजी) को बिलकुल भी न स्वीकारते हुए उल्टा आदरणीय डॉ.रूपेश श्रीवास्तव जी पर ही आँखें तरेरनी शुरू कर दी हैं। एक नयी कुटिलता का उदाहरण कि अब इस कोई बताए कि इसने क्या गलतियाँ करी हैं ताकि ये विद्वान लेखकों व पाठकों को दोबारा विषय से हटा कर अपनी लीपापोती में ही उलझाए रखे। इस राक्षस को अपनी पत्नी की तस्वीर में मॉर्फिंग का खतरा तब ही मँडराता दिखा जबकि हमने इसे इसके कार्यों की व्यस्तता बताई। इसने आत्मन बंधु श्री संजय कटारनवरे जी की माताजी के बारे में अनर्गल प्रलाप करा, प्रिय बहन आयशा(डॉ.रूपेश श्रीवास्तव जी की धर्म पुत्री) के बारे में अश्लील बातें लिखीं, स्वयं आदरणीय संचालक जी पर फर्जी आई.डी. बनाने का गम्भीर आरोप लगाया, पक्षपाती होने का निकृष्ट आरोप लगाया, जब हम सारे आदरणीय की हृदयस्थ माताजी की हत्या के विषय में विमर्श कर रहे थे तो सब जानते हैं कि उसमें हमने इन राक्षस जैनों का कहीं जिक्र ही नहीं करा था लेकिन चोर की दाढ़ी में तिनका की कहावत चरितार्थ करते कुछ राक्षस अपने आप उस प्रकरण में सफ़ाई देने कूद पड़े और इस तरह अपनी असलियत बता बैठे जिनमें से प्रवीण शाह जैन और अमित जैन भी हैं। अमित जैन के आचरण को देख कर आप सब अनुमान लगा सकते हैं कि इतनी गम्भीर गलतियाँ करने के बाद भी इसे जरा सा भी अपराध बोध नहीं है। असल में ये हजारों - लाखों वर्षों के संस्कारों का परिणाम है, ये दैत्यगुरू शुक्राचार्य की शिष्य परंपरा के लोग हैं यदि अपनी गलतियाँ ही स्वीकार कर उन्हें सुधार लें तो राक्षसराज रावण के भाई महाराज विभीषण की तरह न बन जाएं। देखने में तो ये मनुष्यों की ही तरह हैं लेकिन इनका खानपान, इनका आचरण, इनकी जीवन शैली आदि इनको हमसे भिन्न कर देती है। इन्हें वीभत्सता पसंद है, नग्नता पसंद है, पशुहिंसा पसंद है लेकिन इन सब पर ये अत्यंत कुटिलता से एक ऐसा आवरण चढ़ा चुके हैं जिससे इनकी ये करतूतें दिखाई नहीं देतीं।
आप सब देख सकते हैं कि हमारे देश में भयानक शासन करने वाली राजनैतिक पार्टी का प्रवक्ता मनु सिंघवी(जैन है) और अब देखिये कि पूज्यनीय अण्णा हजारे जी का सरासर अपमान करके उन्हें "तालिबानी" कहने वाला भी सुरेश जैन ही है।
अंदाज लगाइये कि आप किस कदर राक्षसों के जाल में घिरे हुए हैं
जय नकलंक देव
जय जय भड़ास

7 टिप्पणियाँ:

मुनेन्द्र सोनी ने कहा…

भाई यदि हम पूरी जिन्दगी इसके कुकर्म इसे दिखाते रहेंगे तो भी ये उन्हें मानेगा नहीं, यही तो इसकी विशेषता है। ये बात तो अब मैं भी समझ गया हूँ।
लेकिन आपने ये नयी बात ध्यान दिलाई के मनु सिंघवी और सुरेश जैन भी इसके ही भाई-बंधु हैं जो कि पेट्रोल मूत रहे हैं।
जय जय भड़ास

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

मुनेंदर सोनी तुझे मेरे कुकर्म दिखाई दे रहे है ,अबे पिछड़ी सोच के पिछड़े नमूने तेरे जैसे ५-६ पिच्लागु के पिछवाड़े पर जब लात पड़ेगी जभी ,तुम्हारी टेढ़ी गर्दन सीधी होती है , तू समझता रह पर जागरूक लोग तुम चुतियाओ का ड्रामा यहाँ खूब देख रहे है , अब तक रूपेश श्रीवास्तव का ---(-सम्भोग का चित्र --)- लिखने पर से ध्यान हटाने के लिए तुझे , अजय मोहन , और २-४ पागल कुत्तों को जों मेरे पर भोकने का काम मिला है उसे निभाते हुए भोकते रहो ,ताकि सब का ध्यान सम्भोग से हट कर भोग पर चला जाये

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

@इस राक्षस को अपनी पत्नी की तस्वीर में मॉर्फिंग का खतरा तब ही मँडराता दिखा जबकि हमने इसे इसके कार्यों की व्यस्तता बताई।

अबे गधो इस लाइन का मतलब क्या निकलता है

@जब हम सारे आदरणीय की हृदयस्थ माताजी की हत्या के विषय में विमर्श कर रहे थे तो सब जानते हैं कि उसमें हमने इन राक्षस जैनों का कहीं जिक्र ही नहीं करा था
तंत्र मन्त्र विमर्श जिस की कोई तस्वीर तुम अब तक किसी भी रूप में पोस्ट नहीं करना चाहते , क्योकि उसे देखने के बाद लोग यहाँ तुम्हारे मुह पर थूकने लगेगे ,और तुम्हारा पढ़े लिखे होने का सारा गर्व थूक में मिल जाएगा
और तम लोगो की हिम्मत कैसे हुई की जैन को राक्षस कहने की , तुम्हारा अपना कोई बाप नहीं न ही तुम्हारा कोई नाम तुम्हारे अनाम गुमनाम बापो ने रखा है , बस एक बूढ़े पख्नादी की तस्वीर लगा उस के पीछे से भोकते रहते हो

३@इन्हें वीभत्सता पसंद है, नग्नता पसंद है, पशुहिंसा पसंद है
आगे मत लिख देना नहीं नहीं तो जों लोग अभी तक तुम पर हस रहे है वो अब थूकना सुरु कर देगे अनूप मंडल के पागल कुत्तों

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

अनूप मंडल तुम्हारे अनुसार तो ये भी सच मान लेना होगा की ओसामा बिन लादेन भी एक मुस्लिम था इसलिए हर मुस्लमान आतंकवादी है

आयशा धनानी ने कहा…

अमित जैन क्या सचमुच कहीं मेरे पिताजी डॉ.रूपेश श्रीवास्तव ने तुम्हारी पत्नी और तुम्हारे सम्भोग के चित्र को प्रकाशित करने की बात लिखी है। तुम एक नंबर के मक्कार हो इसलिये बात को मरोड़ने की नाकाम कोशिश कर रहे हो। जबकि उन्होंने साफ़ शब्दों में लिखा है कि अमित जैन की उनकी पत्नी के साथ कंधे पर हाथ रखे हुए तस्वीर एक मित्रतापूर्ण अंदाज की थी जो कि बिलकुल अश्लील नहीं थी, यदि अमित जैन अपनी पत्नी के साथ सम्भोग करते हुए तस्वीर लगाते तो उसे हटा दिया जाता क्योंकि भड़ास पोर्न का विरोध करता है।
तू जिस कदर गिरता जा रहा है अपनी बेटी को क्या संस्कार दे पाएगा नीच, बच्चे पैदा कर लेना और उन्हें संस्कार देना दो अलग अलग बाते हैं। पिता बन गया है तो संस्कार देना सीख ले वरना रोएगा जीवन भर। वैसे मैं अंदाज लगा सकती हूँ कि तू अपनी इस तरह की घटिया सोच के चलते कैसा जीवन बिता रहा होगा और तेरी मासूम पत्नी पर क्या बीतती होगी। तू यदि अपनी गलती मान लेता तो हम सबकी नजरों में तू बड़ा हो जाता लेकिन तू भला ऐसा क्यों करेगा ये झूठ और मक्कारी तो तेरी फितरत में है। डॉ.रूपेश पर फर्जी आई.डी.बनाने का आरोप लगाता है और खुद शालू जैन के नाम से कमेंट करता है ये भी हम सब जानते हैं।
जय जय भड़ास

अमित जैन (जोक्पीडिया ) ने कहा…

आयशा धनानी अब पता चल रहा है की तुम्हे किस तरह के मक्कारी भरे संस्कार अपने पिता से विरासत में मिले है जिस के कारण तुम अपने पिता की घटिया और विकृत लिखे हुए को सही साबित करने पर तुली हुई हो , पहली बात तो ये मक्कार लड़की की जिस फैशन में तुम हो वहा तुम्हारे जैसे लोग अपनी मक्कारी से ही आगे बढ़ने की कोशिश करते है , दूसरी बात ये ******सम्भोग की तस्वीर ***** लिखते हुए तुम्हारे पिताजी के मन में क्या विकृत मानसिकता चल रही होगी ये तुम भी समझती हो , और अगर तुम्हे ये सही लगता है ,तो तुम बाद में किसी के लिखे हुए को ले कर क्यों पागल हो रही थी? , फिर क्यों पगला कर अनाप शनाप बोल रही हो ?, मतलब तुम्हे कोई कुछ न कहे और तुम कुछ भी बोलो ,

२ @ श्रीमान रूपेश श्रीवास्तव जी यदि आप अपनी बेटी के निर्वस्त्र हो कर किसी कुत्ते के साथ रति क्रीडा करते हुए की तस्वीर यहाँ भडास पर पोस्ट कर देगे तो भी वो हमारे लिए सम्मानीय ही रहेगी ,

यहाँ भी इस का मतलब यही है की अगर तुम्हारी तस्वीर यहाँ पोस्ट होगी तो भी तुम्हारे सम्मान में कोई कमी नहीं आएगी क्योकि भडास के दर्शन के अनुसार मै और सभी किसी भी लड़की का हर हाल में सम्मान ही करेगे चाहे उस की कैसी भी तस्वीर आये चाहे वो पोर्न ही क्यों न हो

मेरी बेटी के संस्कारो की तुम चिंता न करो क्योकि मै उसे तुम्हारे जैसे गिरे हुए और घटिया ,विकृत संस्कार नहीं दूँगा , रही बात मेरी पत्नी की तो वो तेरे जैसे लोगो तरस खाती है की तुम कितनी चालाकी से बात को घुमाना चाहती हो ,

मै शालू जैन के नाम से कमेन्ट नहीं करता न मुझे जरुरत है तुम लोगो की तरह मुखोटा लगाने का , जों कहना है बिलकुल सीधा कहता हू

मरी गलती किस बात की ,जरा गलती तो बताओ , सिर्फ तुम्हे खुश करने के लिए , मै सच से पीछे नहीं हटता और न ही किसी को हटने देता हू
अब चाहे तुम्हे बुरा लगे या भला

डा.रूपेश श्रीवास्तव(Dr.Rupesh Shrivastava) ने कहा…

@ अमित जैन
यहाँ भी इस का मतलब यही है की अगर तुम्हारी तस्वीर यहाँ पोस्ट होगी तो भी तुम्हारे सम्मान में कोई कमी नहीं आएगी क्योकि भडास के दर्शन के अनुसार मै और सभी किसी भी लड़की का हर हाल में सम्मान ही करेगे चाहे उस की कैसी भी तस्वीर आये चाहे वो पोर्न ही क्यों न हो
क्या भड़ास पर मैंने कभी कोई पोर्न संबंधित तस्वीर प्रेषित करी है?
क्या किसी को पोर्न से जुड़े होने पर भी उसे आदरणीय, सम्माननीय बताया है?
क्या किसी भड़ासी को बाध्य करा है कि वह मेरी किसी भी बात से सहमति जताए?
तुम जो चाहे लिख रहे हो और मैंने या भाई रजनीश ने अब तक तुम्हें सदस्यता से नहीं हटाया क्या तुम इसे मेरी कमजोरी समझ रहे हो या मजबूरी?
मेरी मानसिकता कितनी विकृत है ये तुम अब समझ रहे हो या अपनी निजी बातें फोन पर करते समय नहीं समझ सके जब बेटी की आवाज सुना रहे थे?
अमित जैन मैने अपने जीवन में कभी किसी वैचारिक विरोध में below the belt वार नहीं करा लेकिन तुम करने की कोशिश कर रहे हो मैं सहन कर रहा हूँ तो तुम ज्यादा ही बढ़ रहे हो।
जय जय भड़ास

प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। कोई भी अश्लील, अनैतिक, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी तथा असंवैधानिक सामग्री यदि प्रकाशित करी जाती है तो वह प्रकाशन के 24 घंटे के भीतर हटा दी जाएगी व लेखक सदस्यता समाप्त कर दी जाएगी। यदि आगंतुक कोई आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल संचालक को सूचित करें - rajneesh.newmedia@gmail.com अथवा आप हमें ऊपर दिए गये ब्लॉग के पते bharhaas.bhadas@blogger.com पर भी ई-मेल कर सकते हैं।
eXTReMe Tracker

  © भड़ास भड़ासीजन के द्वारा जय जय भड़ास२००८

Back to TOP